I’m talking tactically he’s been found wanting: Sunil Gavaskar criticise of Tim Paine’s captaincy
टिम पेन (AFP)

पूर्व भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर ने एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन की नेतृत्व क्षमता की आलोचना की है। गावस्कर ने हाल ही में दिए बयान में कहा कि सिडनी टेस्ट के दौरान पेन घबराए हुए थे, जिसका प्रभाव उनके फैसलों पर भी पड़ा। पूर्व भारतीय कप्तान ने यहां तक कह दिया था कि पेन इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के लिए आखिरी बार कप्तानी कर रहे हैं।

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे गाबा टेस्ट मैच के दौरान गावस्कर ने कहा, “मुझे पिछले कुछ समय से उसकी कप्तानी पर संदेह था। मुझे लगता है कि दूसरे टेस्ट मैच में, भारत को 36 रन पर ऑलआउट करने के बाद, आप टॉस जीतते हैं और एडिलेड में घास 3 मिलीमीटर घनी है और ऑस्ट्रेलिया पहले बल्लेबाजी करने का फैसला करती है जबकि उन्हें पहले फील्डिंग लेकर भारत को मैदान पर उतारना चाहिए था।”

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, “चूंकि भारतीय टीम बिना विराट कोहली के थी, ऐसे में वो मानसिक तौर पर कमजोर पर होते। लेकिन इसके बजाय ऑस्ट्रेलिया ने बल्लेबाजी चुनी, और 200 रन के स्कोर पर ऑलआउट हो गए। और फिर सिडनी के आखिरी दिन, दूसरे ओवर में अजिंक्य रहाणे के आउट होने के बाद केवल दो विकेट गिए। गेंदबाजी बदलाव, फील्ड प्लेसमेंट, बाकी सब चीजें- मेरा कहना है कि तकनीकि तौर पर वो कमजोर है।”

ड्रेसिंग रूम का ‘खतरनाक’ कल्चर खत्म करे पाकिस्तान टीम: आमिर

पेन की कप्तानी का आंकलन करते हुए गावस्कर ने 2019 की एशेज सीरीज की याद दिलाई। उन्होंने कहा, “ये ना भूलें कि एक साल पहले एशेज में क्या हुआ था जब बेन स्टोक्स और जैक लीच ने मैच जीतने के लिए 80 या 90 रन बनाए थे। इससे पता चलता है कि कप्तानी तौर पर, तकनीकि तौर पर वो ऑस्ट्रेलियाई की अगुवाई करने के लिए सबसे सही शख्स नहीं है।”