India vs Australia, 2nd T20I: Feels nice to take a few wickets against a class team, says Jason Behrendorff
जेसन बेहरेनडोर्फ © AFP

भारत के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में ऑस्ट्रेलिया टीम के नायक रहे जेसन बेहरेनडोर्फ ने मैच के बाद टीम इंडिया की तारीफ करने के साथ साथ हैदराबाद में सीरीज जीतने का ऐलान भी कर दिया। बेहरनडोर्फ ने कहा, “भारतीय टीम एक टॉप टीम है और उनके खिलाफ विकेट लेकर अपनी टीम को एक अच्छी शुरुआत दिलाना बेहतरीन अनुभव रहा। हैदराबाद में फिर से यही करने का इंतजार नहीं कर सकता।” रांची में खेले गए पहले टी20 मैच से बेहरनडोर्फ ने अपना डेब्यू किया था लेकिन बारिश के प्रभावित उस मैच में उन्हें केवल एक ही ओवर डालने का मौका मिला था। युवा तेज गेंदबाज ने आगे बात करते हुए कहा, “पिछले मैच में एक ओवर डालना अच्छा रहा। मैने ऑस्ट्रेलिया टीम में खेलने के लिए बहुत मेहनत की है और मैं इस अनुभव के हर एक पल का आनंद ले रहा हूं।”

119 के लक्ष्य का पीछा करते हुए दो विकेट खोने के बाद ट्रैविस हेड और मोइसिस हेनरीकेज ने ऑस्ट्रेलिया टीम को जीत तक पहुंचाया। मैच के बाद इस बारे में बात करते हुए हेड ने कहा, “मैं इस दौरे पर पिछले काफी समय से सीधे बल्ले से नहीं खेल पा रहा था। आज के मैच में ऐसा करके अच्छा लगा। हमने सकारात्मक रहकर उनके गेंदबाजों पर दबाव बनाने की कोशिश की। जेसन ने काफी अच्छी गेंदबाजी की।” हेड को पूरा यकीन है कि उनकी टीम हैदराबाद टी20 मैच में जीत सीरीज पर कब्जा कर लेगी। [ये भी पढ़ें: गुवाहाटी टी20 जीतने के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की बस पर ‘हमला’]

वहीं अर्धशतकीय पारी खेलने वाले हेनरीकेज ने जीत का श्रेय ऑस्ट्रेलियन गेंदबाजों को दिया। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया। छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए ट्रैविस आगे आए और कई बाउंड्री लगाई, इससे हम पर से दबाव हट गया। बिना कोई विकेट खोए पारी को आगे बढ़ाना जरूरी था। सच कहूं तो पिछले मैच के मुकाबले आज का विकेट सीम गेंदबाजों के लिए सही था। आज पिच पर ज्यादा स्पिन नहीं थी।” आज तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए हेनरीकेज ने बताया कि यह पहले से तय हो गया था। एडम जंपा के जाल में फंसे एम एस धोनी, ऐसे लिया विकेट: वीडियो

उन्होंने कहा, “अगर हम पहले 6 ओवरों में विकेट खोते तो मुझे तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आना था। पिछले मैच में सलामी बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया था इसलिए मैं निचले क्रम में उतरा था।”