live cricket score, live score, live score cricket, india vs england live, india vs england live score, ind vs england live cricket score, india vs england 2nd test match live, india vs england 2nd test live, cricket live score, cricket score, cricket, live cricket streaming, live cricket video, live cricket, cricket live visakhapatnam
भारत बनाम इंग्लैंड विशाखापत्तनम टेस्ट में भारत 246 रनों से जीता। © Getty Images

भारत बनाम इंग्लैंड विशाखापत्तनम टेस्ट भारतीय टीम ने 246 रनों से जीत लिया है। इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली, रविचंद्रन अश्विन, जयंत यादव ने कई सारे रिकॉर्ड बनाए। विराट कोहली का यह 50वां टेस्ट था और इस के बाद 50वें टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए कोहली। साथ ही 50वें टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने के सुनील गावस्कर का रिकॉर्ड भी उन्होंने तोड़ दिया। वहीं जयंत यादव इस मैच में डेब्यू टेस्ट में 50 से ज्यादा रन बनाने वाले तीसरे भारतीय बन गए। विश्व के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज अश्विन इस मैच के बाद इस साल सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। इसके साथ इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने भी 110 साल पुराना एक रिकॉर्ड तोड़ दिया है जिस पर वह काफी शर्मिंदा होंगे। एंडरसन जहां 110 साल बाद टेस्ट की दोनों पारियों में आउट होने वाले इंगलिश बल्लेबाज बनें वहीं इंग्लैंड के सबसे ज्यादा 21 बार शून्य पर आउट होने वाले बल्लेबाज बन गए।  ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड दूसरे टेस्ट का फुल स्कोरकार्ड

एंडरसन विशाखापत्तनम टेस्ट की दोनों पारियों में पहली ही गेंद पर शून्य के स्कोर पर आउट हो गए। क्रिकेट की भाषा में इसे ‘किंग पेयर’ कहा जाता है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट ने ट्विटर पर जाकर एंडरसन के इस नए खिताब पर उनका मजाक उड़ाया। गिलक्रिस्ट ने अपने ट्विटर अकाउंट से लिखा कि, “इस क्लब में तुम्हारा स्वागत है दोस्त, मैं 2001 में कोलकाता के मैदान पर इसका पहला ऑस्ट्रेलियन सदस्य बना था।” एडम 2001 में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर कोलकाता के इडेन गार्डन में खेल गए दूसरे टेस्ट मैच में दोनों पारियों में शून्य पर आउट हुए थे। पहली पारी में पहली ही गेंद पर वह हरभजन सिंह का शिकार बनें थे तो दूसरी पारी में भी पहली ही गेंद का सामना करने पर सचिन तेंदुलकर ने उन्हें पवेलियन वापस भेजा। दोनों ही बार उनके आउट होने का तरीका एलबीडबल्यू ही था। वहीं एंडरसन की कहानी भी गिलक्रिस्ट जैसी ही है। एंडरसन भी दोनों पारियों में एलबीडबल्यू आउट हुए साथ ही उन्हें भी अलग अलग गेंदबाजों ने आउट किया। पहली पारी में अश्विन ने उन्हें आउट किया तो दूसरी बार जयंत यादव ने। दोनों ही बार एंडरसन के आउट होते ही इंग्लैंड की पारी खत्म हुई। गौर करने की बात यह भी है कि एडम को आउट करने वाले दोनों गेंदबाज हरभजन और सचिन एक ही तरीके से गेंदबाजी करते हैं वहीं एंडरसन को आउट करने वाले दोनों गेंदबाज अश्विन और जयंत दोनों ऑफ स्पिनर हैं। ये भी पढ़ें: भारत के खिलाफ जहीर खान की तकनीक से हासिल किए विकेट: स्टुअर्ट ब्रॉड

एंडरसन 110 साल बाद पहले ऐसे इंगलिश बल्लेबाज हैं जिन्हें ‘किंग पेयर’ का खिताब मिला है इससे पहले 1906 में इंग्लैंड के बल्लेबाज एर्नी हेयस को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में यह खिताब मिला था। पहली बार 1892 में विलियम एटवेल ने यह कारनामा किया था और उसके बाद बॉबी पील ने 1895 में इसे अंजाम दिया था इस खिताब को पाना हर खिलाड़ी का बुरा सपना होता है और यह आज एंडरसन के लिए सच हो गया। हालांकि बतौर गेंदबाज एंडरसन ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और स्टुअर्ट ब्रॉड से साथ मिलकर भारतीय बल्लेबाजों को काफी परेशान किया। अगला टेस्ट 26 नवंबर से मोहाली में खेले जाएगा, उम्मीद है तब एंडरसन बल्ले से भी ठीक प्रदर्शन कर सकें। लेकिन अब यह किंग्स पेयर का खिताब जो उन्हें मिला है वह इसे मिटा नहीं सकते।