Wankhede-Stadium© Getty Images

भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट सीरीज का चौथा मैच आठ दिसंबर को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला जाना है। मैच से पहले महाराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम ने बड़ा बयान दिया है, एमसीए का कहना है कि इंग्लैंड दौरे के चौथे टेस्ट मैच की मेजबानी के लिए बोर्ड अपने खर्चों को कम करेगा। एमसीए ने यह फैसला इसलिए लिया है क्योंकि उनके पास बजट की कमी है। इंग्लैंड के भारत दौरे से पहले बीसीसीआई ने भी इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड से कुछ इसी तरह का निवेदिन किया था। बीसीसीआई ने ईसीसी को चिट्ठी भेजकर कहा था कि वह इंग्लैंड टीम का खर्च नहीं उठा पाएंगे लिहाजा खिलाड़ियों के रहने और आने जाने के खर्चे का इंतजाम वह खुद करें। ये भी पढ़ें: आईसीसी ऑलराउंडर रैंकिंग में चौथे नंबर पर पहुंचे रवींद्र जडेजा

सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार एमसीए का बजट 58.66 लाख है। एमसीए के अध्यक्ष पीवी शेट्टी ने कहा, ” इस समय हमारा बजट बहुत ही कम है, वैसे भी हम एक टेस्ट से बहुत ज्यादा नहीं कामना चाहते हैं। हमने बजट कटौती का सही उपाय बनाया हैं। अब तक हम 1.5 करोड़ सिर्फ भोजन प्रबंधन में ही व्यय करते हैं लेकिन इस बार हम भोजन प्रबंधन के लिए 1 करोड़ ही खर्च करेंगे।” वहीं बोर्ड ने अब तक हुए टेस्ट मैचों में दर्शकों की कमी पर भी बात की। बोर्ड स्टेडियम में भीड़ बढ़ाने के लिए कई सारे काम कर रहा है। पीवी शेट्टी ने बताया, “हमारी लगभग 1000 टिकट उन क्रिकेट प्लेइंग स्कूल में वितरित की गई हैं जिन्होंने हर्रिस और गिल्स शील्ड जीती हैं साथ ही उन एनजीओ में भी टिकट भेजी गई हैं जो स्पेशल बच्चो की देख-रेख करती हैं। वहीं उन पूर्व खिलाड़ियों और रणजी के टॉप रिक्टर्स को भी पासेज भेजे गये हैं। महाराष्ट्र बोर्ड का मानना है नकि लोग अपने पसंदीदा खिलाड़ी को देखने स्टेडियम जरूर आएंगे। नोट बैन के बाद ऑन लाइन टिकट की बिक्री काफी बढ़ गई है, इस पर शेट्टी ने कहा, “ऑनलाइन बिक्री बहुत ही प्रोत्साहक होती हैं। हम पहले 4000 टिकट बेच चुके हैं और आने वाले दिनों में हम टेस्ट मैच के लिए समाचार पत्रो में विज्ञापन भी छपवायेंगे। हमे पूरी उम्मीद हैं की लोग स्टेडियम में अपने पसंदीदा क्रिकेटर विराट कोहली को देखने जरूर पहुचेंगे।” ये भी पढ़ें: जब महेंद्र सिंह धोनी ने सचिन तेंदुलकर के साथ मिलकर उड़ाई शाहिद अफरीदी की गिल्लियां

इस दौरे पर कई नए टेस्ट वेन्यू बनाए गए हैं वहीं अगर देखा जाय तो वानखेड़े भी तीन साल के बाद टेस्ट मैच का आयोजन कर रहा है। इसे लेकर सभी उत्साहित हैं और उन्हें भरोसा है कि मुंबई के लोग विराट कोहली, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा और चेतेश्वर पुजारा जैसे खिलाड़ियों को देखने स्टेडियम में आएंगे। पिछले दिनों आईसीसी ने यह बयान दिया था कि वह टेस्ट मैचों की संख्या घटाएगा जिससे तीनों फार्मेट्स में संतुलन बना रहे।