चेतेश्वर पुजारा ने इंदौर टेस्ट के चौथे दिन सीरीज में अपना पहला शतक जमाया © Getty Images
चेतेश्वर पुजारा ने इंदौर टेस्ट के चौथे दिन सीरीज में अपना पहला शतक जमाया © Getty Images

इंदौर टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा ने अपने करियर का आठवां शतक जमाते हुए 101 रनों की शानदार पारी खेली। पुजारा की इस पारी की बदौलत भारतीय टीम ने दूसरी पारी में 3 विकेट पर 216 रनों का स्कोर खड़ा किया। जैसे ही पुजारा ने अपना शतक पूरा किया उसके बाद कप्तान विराट कोहली ने पारी घोषित कर दी। पहली पारी की बढ़त के आधार पर भारतीय टीम ने मेहमान न्यूजीलैंड के सामने तीसरे टेस्ट को जीतने के लिए 474 रनों का लक्ष्य रखा है। पुजारा के अलावा गौतम गंभीर ने भी अपनी वापसी वाले टेस्ट में 50 रनों की पारी खेल कर दर्शकों का मनोरंजन किया। अब भारतीय टीम को सीरीज में 3-0 की बढ़त लेने के लिए न्यूजीलैंड की दूसरी पारी को डेढ़ दिनों के अंदर समेटना होगा जो कि भारतीय गेंदबाजों की फार्म को देखते हुए ज्यादा मुश्किल नहीं लग रहा।

इस सीरीज में पुजारा ने पहले भी 3 बार 50 या उससे ज्यादा रनों की पारी खेल चुके थे लेकिन वह इन पारियों को तीन अंकों की पारी में बदलने में नाकाम साबित हुए थे। लेकिन इंदौर टेस्ट के चौथे दिन लंच से ठीक पहले उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया और बाद में तेजी से खेलते हुए टेस्ट क्रिकेट का अपना आठवां शतक पूरा किया। पुजारा ने इससे पहले अपना आखिरी शतक पिछले साल श्रीलंका के खिलाफ लगाया था। उसके बाद से वह अपने बल्ले से कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। जिसकी वजह से उनको आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा और टेस्ट टीम में उनके स्थान पर खतरा भी मंडरा रहा था। [Also Read: शानदार अर्धशतक जमाकर ट्विटर पर छाए गौतम गंभीर]

मगर पुजारा ने इस सीरीज में अपने प्रदर्शन से सभी आलोचकों को करारा जवाब दिया है और सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने। पुजारा ने इस सीरीज में 3 अर्धशतक और 1 शतक जमाते हुए कुल 373 रन बनाए। इस सीरीज में उनका औसत 74.60 रहा। सीरीज से पहले कोच अनिल कुंबले ने पुजारा को भारतीय टीम का महत्वपूर्ण खिलाड़ी बताया था और पुजारा ने अपने प्रदर्शन से कुंबले की बात को सही साबित किया है।