किंग्स इलेवन पंजाब © BCCI
किंग्स इलेवन पंजाब © BCCI

अभी तक आपने किंग्स इलेवन पंजाब के बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक मनन वोहरा के जौहर उनके बल्ले से देखे होंगे। लेकिन अब उन्होंने एक और विभाग में पैठ बनानी शुरू कर दी है। 28 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच में जिस तरह से उन्होंने उछल- उछलकर फील्डिंग की इससे ये बात तो ये साफ हो गई है कि अब उन्हें ज्यादा देर न करते हुए बास्केटबॉल फ्रेंचाइजी के लिए ट्रायल देना शुरू कर देना चाहिए। दरअसल उन्होंने इस मैच में हवा में झूलते हुए एक छह रन के लिए जा रहे शॉट को शानदार अंदाज में बचाया।

ये बात सनराइजर्स हैदराबाद की पारी के 19वें ओवर की पांचवीं गेंद की है। केन विलियमसन ने ईशांत शर्मा की गेंद पर मिड विकेट के ऊपर से स्ट्रोक लगाया। गेंद छक्के के लिए जा ही रही थी, इसी बीच मनन वोहरा हवा में उछले और गेंद को हवा में झूलते हुए ही पकड़ते हुए गेंद को मैदान में फेंक दिया और छक्का बचा लिया। भले ही उन्होंने इस कैच को मुकम्मल नहीं किया लेकिन उन्होंने जिस तरह का प्रयास किया वो किसी सपनों सरीखा था। टी20 क्रिकेट में रन बचाना बहुत बड़ी बात होती है और यह प्रयास जबरदस्त था।

इस मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए हैदराबाद टीम ने डेविड वॉर्नर(51), शिखर धवन(77) और केन विलियमसन(54) की बेहतरीन पारियों की बदौलत 20 ओवरों में 207/3 का स्कोर खड़ा किया। जवाब में किंग्स इलेवन 20 ओवरों में 9 विकेट पर 181 का स्कोर ही बना पाई और मैच 26 रनों से हार गई। इस जीत के साथ प्वाइंट टेबल पर हैदराबाद ने अपनी स्थिति और भी मजबूत कर ली है और 11 अंकों के साथ तीसरे पायदान पर काबिज है। ये भी पढ़ें- आईपीएल 10, 33वां मैच, किंग्स इलेवन पंजाब बनाम सनराइजर्स हैदराबाद मैच का स्कोरकार्ड

वहीं किंग्स इलेवन पंजाब आठ मैचों में छह जीत के साथ छठवें नंबर पर खिसक गई है। मैच में 4 ओवरों में 16 रन देकर 1 विकेट लेने वाले राशिद खान को मैन ऑफ द मैच चुना गया। राशिद ने ऐसे ओवरों में इक्का- दुक्का रन दिए जिसने मैच को रुख पूरी तरह मोड़कर रख दिया