कुमार संगाकारा-महेला जयवर्धने © Getty Images
कुमार संगाकारा-महेला जयवर्धने © Getty Images

श्रीलंका क्रिकेट को सुधारने के लिए पूर्व कप्तान कुमार संगाकारा और महेला जयवर्धने को बोर्ड की अहम समिति का हिस्सा बनाया जा सकता है। खबर है कि संगाकारा-जयवर्धने और अरविंदा डी सिल्वा के साथ हेमका अमरसूर्या भी इस समिति का हिस्सा होंगे। ये समिति खेल मंत्री दयासिरी जयसेकरा को श्रीलंका क्रिकेट को सुधारने को लेकर सुझाव देगी। समिति में खेल मंत्रालय का कोई बड़ा अधिकारी भी रहेगा।

1990 के बाद से अमरसुरिया को दो बार राजनीतिक रूप से क्रिकेट प्रशासनिक समितियों के चलाने के लिए चुना गया है। श्रीलंका के खेल मंत्रालय ने टीम के हालिया प्रदर्शन की जांच के लिए बुलाई गई बैठक के बाद इस समिति के गठन का फैसला किया है। हाल ही श्रीलंका टीम भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज में 0-9 से बुरी तरह हारी है। साथ ही बांग्लादेश और जिम्बाब्वे टीमों के खिलाफ सीरीज में भी श्रीलंका को हार का सामना करना पड़ा है। जिसके बाद फैंस ने टीम और चयनसमिति की काफी आलोचना की। भारत बनाम श्रीलंका तीसरे वनडे के दौरान श्रीलंकाई फैंस ने अपनी टीम के खराब प्रदर्शन से नाराज होकर स्टेडियम में बोतलें फेंकना शुरू कर दिया था। इस घटना के बाद कई श्रीलंकाई दिग्गज क्रिकेटरों ने इसे दुखद और शर्मनाक हरकत बताया था। [ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के साथ सीरीज ना खेलने के लिए बीसीसीआई को देने होंगे मिलियन डॉलर]

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद संगाकारा काउंटी क्रिकेट में धमाल मचा रहे थे। हाल ही में संगाकारा ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट से भी संन्यास ले लिया है। वहीं जयवर्धने को घरेलू क्लब चैंपियनशिप खेलने के लिए बुलाया गया था। इस पूर्व क्रिकेटर का मानना है कि इस टूर्नामेंट में कई छोटी टीमें भी शामिल हैं जिससे प्रतियोगिता का स्तर गिर जाता है।