रमीज रजा  © Getty Images
रमीज रजा © Getty Images

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज रजा ने आईसीसी को वर्ल्ड इलेवन टी20 सीरीज के जरिए पाकिस्तान में क्रिकेट को वापस लाने के लिए शुक्रिया कहा। रजा ने आईसीसी की वेबसाइट के लिए लिखे ऑर्टिकल में कहा है इस कदम के जरिए आईसीसी ये जता रही है कि क्रिकेट बिरादरी पाकिस्तान को पीछे नहीं छोड़ेगी। रजा ने लिखा, “वर्ल्ड इलेवन का दौरा पाकिस्तान में क्रिकेट की वापसी की ओर पहला कदम है। इसका श्रेय खिलाड़ियों और आईसीसी को जाना चाहिए, जिन्होंने परिवार वालों और दोस्तों की बातों को अनसुना कर भविष्य को देखते हुए ये साहस भरा फैसला किया।”

रजा ने बताया कि किस तरह क्रिकेट के पाकिस्तान से दूर जाने के बाद यह देश भावनात्मक और आर्थिक रूप से प्रभावित हुआ था। साल 2009 में श्रीलंका क्रिकेट टीम की बस पर हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान में एक दो सीरीज ही आयोजित हुई हैं। साल 2015 में जिम्बाब्वे टीम के सफल दौरे से इस देश में क्रिकेट की वापसी के रास्ते खुलने शुरू हुए थे। उसके बाद पाकिस्तान सुपर लीग यानि की पीएसएल के आयोजन ने स्थिति को काफी हद तक बदला। रजा का मानना है कि आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान की जीत ने भी इसमें बड़ा योगदान दिया है। [ये भी पढ़ें: टीम इंडिया में वापसी करके ही रहेंगे सुरेश रैना, दिया बड़ा बयान]

उन्होंने लिखा, “पाकिस्तान ने विदेशी जमीन पर शानदार प्रदर्शन कर अपने देश में क्रिकेट को वापस लाने में बड़ा योगदान दिया है। यूएई में जीतना, टेस्ट में नंबर एक बनना और पीएसएल के दो सफल सजीन आयोजित करने के बाद चैंपियंस ट्रॉफी की ऐतिहासिक जीत इस सब से फर्क पड़ा है।” पाकिस्तान इसी महीने वर्ल्ड इलेवन टीम के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज खेलेगा। सीरीज का पहला मैच 12 सितंबर को लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में खेला जाएगा।