rinku singh is a pocket rocket says former india coach ravi shastri
Rinku Singh @IPL

भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने रिंकू सिंह (Rinku Singh) की तारीफ की है। शास्त्री ने रिंकू को ‘पॉकेट रॉकेट’ कहा। रिंकू ने बुधवार को कोलकाता नाइट राइडर्स (Kolkata Kinght Riders) के लिए लखनऊ सुपर जायंट्स (Lucknow Super Giants) के खिलाफ 15 गेंद पर 40 रन की पारी खेली थी। कोलकाता के सामने जीत के लिए 211 रन का लक्ष्य था और रिंकू ने टीम को जीत के बेहद करीब पहुंचा दिया था। वह आखिरी ओवर में आउट हुए और उनकी टीम को दो रन से हार का सामना करना पड़ा।

इतने बड़े स्कोर का पीछा करते हुए कोलकाता की हालत खराब थी। उसका स्कोर 17वें ओवर में छह विकेट पर 150 रन था। आंद्रे रसल सिर्फ 5 रन बनाकर आउट हो गए थे। लेकिन रिंकू ने यहां से ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करनी शुरू कर दी। मार्कस स्टॉयनिस के आखिरी ओवर में उन्होंने एक चौका और दो छक्के समेत 18 रन बटोर लिए थे। आखिरी दो गेंद पर कोलकाता को तीन रन चाहिए थे कि इविन लुईस ने शानदार कैच पकड़ कर उन्हें आउट कर दिया।

24 साल के इस बल्लेबाज की तारीफ करते हुए शास्त्री ने ईएसीपीएनक्रिकइंफो के साथ बातचीत में कहा, ‘रिंकू एक पॉकेट रॉकेट है। उन्होंने कितनी शानदार बल्लेबाजी की। वह खुलकर खेलने वाले क्रिकेटर हैं। वह जिस तरह की बल्लेबाजी करते हैं और फील्डिंग करते हैं, ऐसा लगता है कि वह मैदान पर पूरी तरह इन्जॉय करते हैं। वह अपनी ताकत झोंक देते हैं। बल्लेबाजी की बात करें तो वह देखने में भले ही छोटे लगते हों लेकिन गेंद पर जबर्दस्त प्रहार करते हैं। उन्हें बल्लेबाजी करना पसंद है। रसल के आउट होने के बाद ऐसा लगा कि कोलकाता की उम्मीदें खत्म हो गई हैं। लेकिन रिंकू ने 15 गेंद पर 40 रन बनाकर उन्हें मैच में वापसी करवा दी।’

कोलकाता को आखिरी दो गेंद पर तीन रन चाहिए थे। ऐसे वक्त में एविन लुईस ने एक हाथ से रिंकू सिंह का शानदार कैच लपककर उनकी पारी का अंत किया। स्टॉयनिस ने आखिरी गेंद पर उमेश यादव को बोल्ड कर लखनऊ को जीत दिला दी।

हार के बावजूद रवि शास्त्री ने कोलकाता नाइट राइडर्स की तारीफ की। शास्त्री ने कहा कि बड़े स्कोर का पीछा करने उतरी टीम ने अपने सलामी विकेट जल्दी खो दिए लेकिन उसके बावजूद उसने बहुत अच्छी वापसी की। इसके लिए शास्त्री ने कोलकाता को श्रेय दिया।

शास्त्री ने कहा, ‘9 रन के स्कोर पर अपने दोनों सलामी बल्लेबाज खोने के बाद कोलकाता ने काफी जज्बा दिखाया। आपके सामने 211 का लक्ष्य हो और ओपनर्स जल्दी आउट हो जाएं तो उसका काफी असर पड़ता है। श्रेयस अय्यर ने आक्रामक बल्लेबाजी की और नीतीश राणा के साथ अच्छी पार्टनरशिप बनाई। इस साझेदारी ने टीम को कुछ रफ्तार दी। 200 के पार जाकर कोलकाता ने दम दिखाया।’

मोहसिन खान ने वेंकटेश अय्यर को जीरो और अभिजीत तोमर को चार के स्कोर पर आउट कर दिया। श्रेयस ने 29 गेंद पर 50 और राणा ने 22 गेंद पर 42 रन की पारी खेली। सुनील नरेन सात गेंद पर 21 रन बनाकर नाबाद रहे।