Steve Smith, David Warner on reintegration: It’s like we didn’t really leave
डेविड वार्नर, स्टीवन स्मिथ © Getty Images

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट मैच के दौरान हुई बॉल टैंपरिंग घटना की वजह से एक साल का बैन झेल रहे स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर लंबे समय बाद ऑस्ट्रेलियाई ड्रेसिंग रूम में लौटे। दोनों सीनियर खिलाड़ियों का टीम स्टाफ और खिलाड़ियों ने खुले दिल से स्वागत किया। इससे भावुक हुए वार्नर ने कहा, “ये शानदार है, ऐसा लग रहा है जैसे हम कहीं गए ही नहीं थे। लड़कों ने हमारी वापसी को खुली बाहों के साथ स्वीकार किया और ये कमाल है।”

स्मिथ और वार्नर पाकिस्तान के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज से पहले साथी खिलाड़ियों और स्टाफ से मिलने दुबई पहुंचे थे। बता दें कि स्मिथ और वार्नर पर लगा 12 महीनों का बैन 29 मार्च को खत्म हो रहा है, जिसके बाद ये दोनों सीनियर बल्लेबाज विश्व कप और एशेज के लिए इंग्लैंड जाने वाले स्क्वाड में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे।

ये भी पढ़ें: ‘IPL के दौरान वर्कलोड को लेकर सतर्क रहेंगे भारतीय खिलाड़ी’

वार्नर ने भारत दौरे से वनडे और टी20 सीरीज जीतकर लौटी ऑस्ट्रेलिया टीम की तारीफ की। उन्होंने कहा, “ऐसा लगता है कि भारत में शानदार जीत हासिल कर लौटी इस टीम में गजब की ऊर्जा है। टीम का आत्मविश्वास बढ़ा हुआ है। लड़कों ने कुछ खराब दिन देखे हैं और अब वो पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज के लिए तैयार हो रहे हैं। लेकिन टीम के साथ वापस जुड़कर अच्छा लग रहा है।”

स्मिथ और वार्नर पर गेंद से छेड़छाड़ करने का आरोप लगने के बाद से ऑस्ट्रेलियाई टीम का माहौल काफी निराशाजनक था। टीम को अपने कल्चर को लेकर हर तरफ से आलोचना का सामना करना पड़ रहा था, जिसके बाद बोर्ड ने ऑस्ट्रेलिया टीम में एक नए कल्चर और नए मूल्यों का समावेश करने की पहल की।

ये भी पढ़ें: आईपीएल में हिस्सा लेने के लिए दक्षिण अफ्रीका ने अब तक खिलाड़ियों को रिलीज नहीं किया

पूर्व कप्तान स्मिथ ने भी इस बदलाव को स्वीकार किया। उन्होंने कहा, “इस समय जो मूल्य टीम में डाले गए हैं वो सुनिश्चित कर रहे हैं कि हम सही रास्ते पर हैं आगे जा रहे हैं जो कि इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप और एशेज सीरीज की तरफ जा रहा है। टीम के सामने बेहद रोमांचक समय है और केवल ये निश्चित किया जा रहा है कि हर कोई सही दिशा में आगे बढ़ रहा है।”

स्मिथ और वार्नर की वापसी को लेकर उत्साहित कोच जस्टिन लैंगर ने कहा, “ये ऐसा है जैसे दो भाई घर लौट रहे हैं। एक परिवार में भाई अलग अलग कारणों की वजह से घर छोड़ते हैं। इसलिए उन्हें वापस पाकर अच्छा लग रहा है। उनका अच्छे से स्वागत किया गया है। पिछली रात सभी ने साथ में अच्छा समय बिताया। उन्हें वापस टीम में देखकर अच्छा लग रहा है।”

कोच ने आगे कहा, “वो वास्तव में कठिन समय से गुजरे हैं। 12 महीने का बैन मुश्किल है। एक कोच के रूप में, जब आपके दो इतने ज्यादा रनों और अनुभव वाले खिलाड़ी, एक पहले से अच्छा प्रदर्शन कर रही टीम में लौटते हैं तो ये काफी उस्ताहित करता है।”