Team India remain Test champion, England on top in ODI after annual rankings update
Team India (File Photo) @ BCCI

भारत और इंग्लैंड ने गुरूवार को आईसीसी रैंकिंग में सालाना अपडेट के बाद क्रमश: टेस्ट और वनडे रैंकिंग में शीर्ष स्थान बरकरार रखा। आईसीसी के बयान के अनुसार रैंकिंग में अपडेट 2015-16 से सीरीज के नतीजों को हटाने के बाद की गयी थी और 2016-17 व 2017-18 के नतीजों के 50 प्रतिशत अंक ही शामिल किये गये हैं।

वर्ष 2019 विश्व कप में अब एक महीने से भी कम समय बचा है और इंग्लैंड वनडे में पहले नंबर पर काबिज टीम है लेकिन भारत इंग्‍लैंड से अंतर कम करने में सफल रहा। इंग्‍लैड भारत से महज दो अंक ही आगे है। टेस्ट रैंकिंग में भारत और दूसरे स्थान पर काबिज न्यूजीलैंड के बीच अंतर आठ से महज दो अंक रह गया है।

पढ़ें:- Dream11 Prediction, MI vs SRH: मुंबई-हैदराबाद मुकाबले की ड्रीम11 टीम

अपडेट से पहले भारत के 116 अंक और न्यूजीलैंड के 108 अंक थे लेकिन विराट कोहली की टीम की दक्षिण अफ्रीका पर 3-0 से जीत और श्रीलंका पर 2-1 से जीत को 2015-16 सत्र का हिस्सा माना गया जिससे उन्होंने तीन अंक गंवा दिये जबकि न्यूजीलैंड की ऑस्ट्रेलिया से दो 2-0 की हार को हटा दिया गया जिससे उन्हें तीन अंक मिले।

पढ़ें:- धोनी की मैदान पर मौजूदगी से ही विरोधी टीम दबाव में आ जाती हैं: रैना 

टेस्‍ट अंकतालिका में एकमात्र बदलाव हुआ है जिसमें इंग्लैंड ने चौथे स्थान पर ऑस्ट्रेलिया को पछाड़ दिया है और उसके 105 अंक हैं। ऑस्ट्रेलिया के छह अंक गंवाने के बाद 98 अंक पर है क्योंकि उन्होंने 2015-16 में पांच से चार सीरीज जीती थी जो गणना का हिस्सा नहीं थी। वहीं, सातवें स्थान की पाकिस्तान और आठवें स्थान की वेस्टइंडीज के बीच अंतर 11 से घटकर दो अंक का हो गया है।

पढ़ें:- जैसे धोनी ने मुझे स्टंप किया वो बिजली की तरह तेज था- श्रेयस अय्यर

वनडे रैंकिंग में इंग्लैंड ने शीर्ष स्थान बरकरार है लेकिन विश्व कप में शीर्ष रैंकिंग की टीम के तौर पर जाने से पहले उन्हें आगामी एकमात्र वनडे में आयरलैंड को हराना होगा और फिर पाकिस्तान को घरेलू सीरीज में 3-2 से पराजित करना होगा। इंग्‍लैड अगर आयरलैंड से हार गयी तो उसे पाकिस्तान को 4-1 से मात देनी होगी। तभी सो शीर्ष पर बरकरार रह पाएगी।

दक्षिण अफ्रीका ने न्यूजीलैंड को तीसरे स्थान से हटा दिया है जबकि एक अन्य बदलाव में वेस्टइंडीज की टीम श्रीलंका से आगे सातवें स्थान पर पहुंच गयी है। कोई भी टीम शीर्ष 10 से बाहर नहीं हुई है इससे सुनिश्चित हो गया कि विश्व कप में 10 शीर्ष रैंकिंग की टीमें ही खेलेंगी।