राहुल त्रिपाठी © IANS
राहुल त्रिपाठी © IANS

इंडियन प्रीमियर लीग का दसवां सीजन देखने वाले सभी दर्शकों को राहुल त्रिपाठी का मुस्कुराता चेहरा जरूर याद होगा। त्रिपाठी ने ऑस्ट्रेलियन खिलाड़ी स्टीवन स्मिथ की कप्तानी में राइजिंग पुणे सुपरजायंट की तरफ से अपना आईपीएल डेब्यू किया था। अपने पहले ही सीजन में शानदार प्रदर्शन कर राहुल सभी की नजरों में आ गए थे। उन्होंने 14 मैचों में 146 के स्ट्राइक रेट से 391 रन बनाए। उनके इसी प्रदर्शन के चलते उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच के लिए बोर्ड प्रेसीडेंट इलेवन टीम में जगह दी गई है। 26 साल के राहुल आईपीएल खत्म होने के बाद भी लगातार दूसरे टूर्नामेंट में खेल रहे हैं। राहुल का कहना है कि वह अपना समय बर्बाद नहीं कर सकते।

क्रिकबज से बातचीत में पुणे के इस खिलाड़ी ने कहा, “मेरा रणजी सीजन अच्छा नहीं गया था लेकिन आईपीएल में मैने अच्छा प्रदर्शन किया था। मेरे दिमाग में था कि आईपीएल प्रदर्शन की मदद से मुझे और मौके जरूर मिलेंगे। अब मुझे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बोर्ड प्रेसीडेंट टीम में खेलने का मौका मिला है, ये मेरी उम्मीद से कहीं बढ़कर है। मैं अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहता था। मैं क्रिकेट से लगातार जुड़ा रहना चाहता था और अपनी फिटनेस पर काम करना चाहता था। इसलिए मैं रणजी सीजन की तैयारी करने के लिए तमिलनाडू सीनियर डिवीजन लीग में खेलने गया।” [ये भी पढ़ें: अपने जोखिम पर युवराज सिंह को टीम से निकालें: सबा करीम]

राहुल ने बताया कि वह बल्लेबाजी के साथ साथ अपनी गेंदबाजी पर भी काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया, “मेरा मानना है कि मैं पार्ट टाइम गेंदबाज के रूप में प्रभावी साबित हो सकता हूं, मैं किसी टीम के लिए तीसरे तेज गेंदबाज के रूप में खेल सकता हूं।” स्मिथ की कप्तानी में खेल चुके राहुल उनके खिलाफ खेलने को लेकर उत्साहित हैं। राहुल ने कहा कि स्मिथ से दोबारा मिलकर उन्हें बहुत खुशी होगी।