एक आक्रमक बल्लेबाज के साथ-साथ एक बहुत समझदार विकेटकीपर भी हैं ब्रैंडन मैकुलम © Getty Images
एक आक्रमक बल्लेबाज के साथ-साथ एक बहुत समझदार विकेटकीपर भी हैं ब्रैंडन मैकुलम © Getty Images

हाल ही में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने वाले ब्रैंडन मैकुलम को दुनिया एक आक्रामक बल्लेबाज के रूप में ज्यादा जानती है। लेकिन मैकुलम सिर्फ एक आक्रामक बल्लेबाज ही नहीं एक सफल कप्तान और एक चपल विकेटकीपर भी हैं। अपनी कप्तानी में मैकुलम ने न्यूजीलैंड टीम को विश्व कप 2015 के फाइनल तक पहुंचाया था। टीम को ना जानें कितने मौकों पर उन्होंने अपनी फील्डिंग से मैच जिताया है। आइए आपको एक वीडियों के माध्यम से दिखाते हैं कि ब्रैंडन मैकुलम विकेट के पीछे किस तरह से बल्लेबाज के दिमाग को पढ़ लिया करते थे। इस वीडियो को देखकर आप मैकुलम की विकेटकीपिंग के भी कायल हो जाएंगे। ALSO READ: जब बिली बाउडन ने क्रिकेट मैदान पर दिखाया रेड कार्ड

2008-09 में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड का दौरा किया था। वेलिंगटन में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में भारत ने मेजबान न्यूजीलैंड के खिलाफ अपनी पकड़ मजबूत कर ली थी। दूसरी पारी में भारतीय टीम के ‘मिस्टर भरोसेमंद’ राहुल द्रविड़ सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर के साथ एक बड़ी साझेदारी निभाने की ओर कदम बढ़ा दिये थे। भारत की दूसरी पारी में गंभीर और द्रविड़ दूसरे विकेट के लिये 170 रन जोड़ चुके थे। दोनों में से किसी भी बल्लेबाज पर न्यूजीलैंड का कोई भी गेंदबाज कोई असर नहीं डाल पा रहा था। राहुल द्रविड़ का विकेट पर टिकना न्यूजीलैंड के लिये सबसे बड़ी चिंता थी। राहुल द्रविड़ ने पूरी सीरीज में न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को खासा परेशान किया था।

भारत की दूसरी पारी में  49वां ओवर कप्तान डेनियल विटोरी कर रहे थे। इस ओवर की तीसरी गेंद पर जो हुआ वो क्रिकेट इतिहास में दर्ज हो गया। 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर द्रविड़ विटोरी की गेंद को ‘पैडल स्वीप’ के लिये खेलने गए। विकेट के पीछे मुस्तैद मैकुलम ने द्रविड़ की शॉट खेलने की पोजीशन को देखकर उनके शॉट खेलने से पहले ही उस दिशा में दौड़ लगा दी। द्रविड़ ने जैसे ही शॉट खेला मैकुलम ने विकेट के पीछे शानदार कैच पकड़ लिया। मैकुलम के इस कैच को देखकर दर्शक और राहुल द्रविड़ दंग रह गये। मैकुलम द्रविड़ के विकेट की अहमियत को जानते थे, द्रविड़ के विकेट पर टिकने के बाद उनको आम तरीके से आउट करना नामुमकिन था। इसलिये मैकुलम ने द्रविड़ को आउट करने के लिये दिमाग का इस्तेमाल करते हुए उनका शानदार कैच पकड़ कर द्रविड़ को पवेलियन की राह दिखाई। बाद में इस कैच को लेकर बहुत विवाद भी हुआ लेकिन क्रिकेट जगत ने मैकुलम की सोच और विकेट के पीछे उनकी चपलता की सराहना की। ALSO READ: टेस्ट क्रिकेट के 5 सबसे बड़े स्कोर