Colin Munro: Quitting first-class cricket was a tough decision for me
Colin Munro (File Photo) © Getty Images

न्‍यूजीलैंड के बल्‍लेबाज कॉलिन मुनरो ने भले ही वनडे और टी-20 क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन कर खूब नाम कमाया हो, लेकिन टेस्‍ट क्रिकेट में वो टीम में अपनी जगह बना पाने में फेल रहे। साल 2013 में उन्‍हें साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्‍ट मैच में मौका दिया गया था, लेकिन इस मैच की दोनों पारियों में शून्‍य और 13 रन बनाने के बाद उन्‍हें कभी टेस्‍ट क्रिकेट में जगह नहीं दी गई।

न्‍यूजीलैंड के घरेलू क्रिकेट में कॉलिन मुनरो 51.58 की औसत से रन बना चुके हैं। इसके बावजूद टेस्‍ट टीम में दोबारा मौका नहीं मिलने के बाद उन्‍होंने अब फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट से संन्‍यास ले लिया है। द हिन्‍दू अखबार से बातचीत के दौरान मुनरो ने कहा, “लाल गेंद के क्रिकेट को छोड़ना मेरे लिए काफी मुश्किल निर्णय था। मैं पिछले कई सालों से इस बारे में विचार कर रहा था। मैंने पिछले 10 साल में 50 फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेले, इसके बावजूद भी मुझे इसका फल नहीं मिला।”

कॉलिन मुनरो इस वक्‍त अफगानिस्‍तान प्रीमियर लीग में खेलने के लिए यूएई में हैं। मुनरो अब टेस्‍ट क्रिकेट का विचार मन से निकालकर विश्‍व कप 2019 के लिए टीम में अपनी जगह पक्‍की करना चाहते हैं। उन्‍होंने कहा, “मुझे लगता है कि इंग्लिश कंडीशन में न्‍यजीलैंड की टीम अच्‍छा प्रदर्शन करेगी। इस बार विश्‍व कप में अफगानिस्‍तान का प्रदर्शन देखने वाला होगा। एशिया कप में इस टीम ने श्रीलंका और बांग्‍लादेश जैसी टीमों को हराया। भारत के खिलाफ भी मैन टाई पर खत्‍म हुआ। अफगानिस्‍तान के पास मैच विनिंग बल्‍लेबाज और गेंदबाज हैं। ”