ICC WORLD CUP 2019: Ben Stokes All round performance as England crush South Africa by 104 runs
Ben Stokes, Jofra Archer, Jos Buttler @ AFP

मेजबान इंग्‍लैंड ने आईसीसी विश्‍व कप में अपने अभियान की शुरुआत धमाकेदार जीत से की है। मैन ऑफ द मैच बेन स्‍टोक्‍स के ऑलराउंड प्रदर्शन के दम पर इयोन मोर्गन की कप्‍तानी वाली इंग्‍लैंड टीम ने उद्घाटन मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 104 रन से हरा दिया।

पढ़ें: खिलाड़ियों की चोट ने बढ़ाई इन टीमों की मुश्किलें

312 रन के लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम 39.5 ओवर में 207 रन ही बना सकी। उसकी ओर से सलामी बल्‍लेबाज क्विंटन डी कॉक ने 74 गेंदों पर सबसे अधिक 68 रन बनाए जिसमें 6 चौके और 2 छक्‍के शामिल थे।

रासी वान डेर डुसेन ने 61 गेंदों पर 4 चौकों और एक छक्‍के के दम पर 50 रन का योगदान दिया। इसके अलावा मेहमान टीम का कोई भी बल्‍लेबाज कुछ खास कमाल नहीं कर सका।

एंडिले फेहलुकवायो ने 24 जबकि हाशिम अमला ने 13 रन बनाए। एडेन मार्करम 11 रन बनाकर आउट हुए वहीं जेपी डुमिनी 8 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस को 5 रन के निजी स्‍कोर पर जोफ्रा आर्चर ने पवेलियन भेजा। ड्वेन प्रीटोरियस एक रन पर रनआउट हुए।

इंग्‍लैंड की ओर से युवा तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने सबसे अधिक तीन जबकि लियाम प्‍लंकेट और स्‍टोक्‍स ने दो-दो विकेट लिए। आदिल राशिद और मोइन अली के खाते में एक-एक विकेट गया।

इंग्‍लैंड के 4 बल्‍लेबाजों ने अर्धशतक लगाए

इससे पहले इंग्‍लैंड ने स्टोक्स की अगुवाई में शीर्ष क्रम के चार बल्लेबाजों के अर्धशतकों की मदद से 8 विकेट पर 311 रन बनाए थे।

ओपनर जेसन रॉय (53 गेंदों पर 56 रन) और जो रूट (59 गेंदों पर 53 रन) ने दूसरे विकेट के लिए 106 रन जोड़कर इंग्लैंड को शुरुआती झटकों से उबारा। दोनों के लगातार ओवरों में आउट होने के बाद मोर्गन (60 गेंदों पर 57 रन) और स्टोक्स (79 गेंदों पर 89 रन) ने चौथे विकेट के लिए 106 रन की साझेदारी की।

अमला को मैदान छोड़कर जाना पड़ा 

आर्चर की तेजी से उठती गेंद पहले हाशिम अमला के हेलमेट से लगी और उन्हें कुछ समय के लिए मैदान छोड़ना पड़ा। इससे दक्षिण अफ्रीका की सारी रणनीति गड़बड़ा गई। बाद में अमला ने 6 विकेट गिरने के बाद क्रीज पर कदम रखा लेकिन उनका साथ देने के लिए पुछल्ले बल्लेबाज थे।

पढ़ें: अमला के सिर पर लगी आर्चर की 145 KPH की गेंद, चोटिल होकर लौटे पवेलियन

ओवल की पिच पर अपेक्षित उछाल नहीं थी और ऐसे में बल्लेबाजों के लिए शॉट जमाना आसान नहीं रहा। दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों ने इंग्लैंड को बीच-बीच में झटके दिए और अंतिम 14 ओवरों में 98 रन दिए। लुंंगी  एंगिडी (66/3), इमरान ताहिर (61/2) और कगीसो रबाडा (66/2) दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल गेंदबाज रहे।

बेयरस्‍टो ‘गोल्डन डक’ बनाकर हुए आउट

दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीता और लेग स्पिनर इमरान ताहिर को विश्व कप 2019 की पहली गेंद करने का सौभाग्य मिला। उन्होंने अपनी दूसरी गेंद पर ही खतरनाक जॉनी बेयरस्‍टो को ‘गोल्डन डक’ बनाकर फाफ डुप्लेसिस का फैसला सही साबित कर दिया। ताहिर की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक के दस्तानों में समा गई थी।

रॉय ने 15वां जबकि रूट ने 31वां अर्धशतक पूरे किए

रॉय और रूट ने हालांकि बिना किसी दबाव के बल्लेबाजी करने की रणनीति अपनाई। डेल स्टेन की अनुपस्थिति में दक्षिण अफ्रीकी आक्रमण के अगुआ कगीसो रबाडा ने सातवें ओवर में गेंद संभाली तो रॉय ने चौके से उनका स्वागत किया। इंग्लैंड ने 17वें ओवर में तिहरे अंक को छुआ।

रॉय ने इसके तुरंत बाद वनडे में अपना 15वां अर्धशतक पूरा किया। पिछली छह पारियों में यह पांचवां अवसर है जबकि वह 50 से अधिक रन बनाने में सफल रहे। तेज गेंदबाज ड्वेन प्रीटोरियस के इसी ओवर में रूट ने भी अपना 31वां अर्धशतक पूरा किया लेकिन अगले दो ओवर के बाद ये दोनों पवेलियन में विराजमान थे।

पढ़ें: मोहम्‍मद आमिर वर्ल्‍ड कप में डेब्‍यू करने को तैयार : सरफ

एंडिले फेलुकवायो ने रॉय को आसान कैच देने के लिए मजबूर किया और खतरनाक दिख रही यह साझेदारी तोड़ी। रबाडा के अगले ओवर में रूट ने भी बैकवर्ड प्वाइंट पर शॉट खेलकर अपना विकेट इनाम में दिया। रॉय ने आठ और रूट ने पांच चौके लगाए।

मोर्गन के वनडे में 7 हजार रन पूरे

स्टोक्स ने जमने में थोड़ा समय लिया लेकिन मोर्गन भांप गए थे कि अगर गेंदबाजों को हावी होने दिया तो यह टीम के लिए नुकसानदायक होगा। उन्होंने एंगिडी पर लगातार दो छक्के जड़कर वनडे में अपने 7, 000 रन भी पूरे किए। इसके बाद उन्होंने कामचलाऊ आफ स्पिनर एडेन मार्करम की गेंद भी छह रन के लिए भेजी और कुछ देर बाद अपना 46वां अर्धशतकप पूरा करने में सफल रहे।

स्‍टोक्‍स ने वनडे करियर का 16वां अर्धशतक जड़ा

स्टोक्स ने भी जल्दी लय पकड़ ली। उन्होंने प्रीटोरियस के एक ओवर में तीन चौके जमाकर अपना 16वां वनडे अर्धशतक पूरा करने के साथ ही सही समय पर फॉर्म में वापसी की। विश्व कप में यह पहला अवसर है जबकि इंग्लैंड के चार बल्लेबाजों ने 50 से अधिक का स्कोर बनाया।

डु प्लेसिस ने ऐसे मौके पर भरोसेमंद ताहिर को गेंद सौंपी और वह पहले ओवर में मोर्गन को आउट करने में सफल रहे। इंग्लैंड के कप्तान ने लंबा शॉट खेलने के प्रयास में लॉन्‍ग ऑन पर कैच दिया। मोर्गन ने चार चौके और तीन छक्के लगाये। एंगिडी ने बटलर (18) और मोइन अली (तीन) को नहीं टिकने दिया।

डेथ ओवरों की जिम्मेदारी स्टोक्स पर थी लेकिन वह भी रन गति तेज नहीं कर पाए। एंगिडी ने उन्हें बैकवर्ड प्वाइंट पर कैच कराकर अपना तीसरा विकेट लिया। स्टोक्स ने अपनी पारी में नौ चौके लगाए।