RTI: Mumbai Cricket Association fails to clear security dues
MCA Logo @Getty Image

मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 7 संस्करणों और बाकी के मैचों के लिए मुंबई पुलिस द्वारा मुहैया कराई गई सुरक्षा के लिए जरूरी फीस का भुगतान नहीं किया है। आरटीआई के जरिए इसका खुलासा हुआ है।

पढ़ें: साख की लड़ाई में पाक के सामने इंग्‍लैंड से पार पाने की चुनौती

अनिल गालगली द्वारा दायर की गई आरटीआई के जवाब में मुंबई पुलिस ने बताया है कि उसे एमसीए से फीस के तौर पर 21.34 करोड़ रुपये लेने बाकी है इसमें 5.61 करोड़ रुपये का ब्याज है। यह पैसा 2018 तक आईपीएल और अन्य मैचों के लिए मुहैया कराई गई सुरक्षा की फीस है।

हाल ही में खत्म हुए आईपीएल के लिए मुंबई पुलिस ने गृह मंत्रालय के 31 मार्च 2019 के आदेश को मानते हुए टीमों, स्थलों, खिलाड़ियों और बाकी जगहों के लिए सुरक्षा मुहैया कराई थी।

गालगली ने कहा, ‘सहायक पुलिस आयुक्त (समन्वय) दिलीप थोराट ने आरटीआई कानून के तहत जवाब देते हुए बताया है कि वनडे अंतर्राष्ट्रीय, टी-20 विश्व कप, टेस्ट और महिला विश्व कप के मैचों के लिए दी गई सुरक्षा के लिए जो फीस है वह अभी तक भरी नहीं गई है और यह रकम दिन ब दिन बढ़ती जा रही है।’

पढ़ें:  केन रिचर्डसन की जगह स्‍टेनलेक डर्बीशायर टीम में शामिल 

पुलिस ने आईपीएल-2019 का बिल अभी तक नहीं दिया है, क्योंकि राज्य सरकार से कोई नया आदेश नहीं मिला है, लेकिन गालगली ने कहा कि जब नई सरकार आएगी तो ऐसा जल्दी होगा।

पिछले साल हुए आईपीएल के नौ मैचों के लिए मुंबई पुलिस को 1.48 करोड़ रुपये मिलने थे, लेकिन एमसीए ने अभी तक बिल का भुगतान नहीं किया है।

गालगली ने कहा, ‘पुलिस आईपीएल मैचों के लिए जिस तरह से तुरंत सुरक्षा देती है उस हिसाब से एमसीए को भी तुरंत ही बिलों का भुगतान कर देना चाहिए। पुलिस अधिकारियों को भी यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जैसे ही आईपीएल हो बिलों का भुगतान किया जाए।’