Vijay Hazare Trophy 2018-19, Elite Group B roundup:  Wins for Delhi, Kerala, Chhattisgarh

जलज सक्सेना, अक्षय चंद्रन की शानदार गेंदबाजी के दम पर केरल ने पालम ए स्टेडियम में खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के ग्रुप-बी के मैच में ओडिशा को 6 विकेट से हरा दिया।

जलज ने 4 और चंद्रन ने 3 विकेट लेकर ओडिशा को 117 रनों पर ही समेट दिया और फिर केरल के बल्लेबाजों ने इस लक्ष्य को चार विकेट खोकर 37.3 ओवरों में हासिल कर लिया।

केरल के लिए कप्तान सचिन बेबी ने सबसे ज्यादा 41 रन बनाए वहीं सलमान निजार 31 रन बनाकर नाबाद रहे। ओडिशा के लिए पापू रॉय ने दो और अभिषेक राउत ने एक विकेट लिया।

इससे पहले, ओडिशा के बल्लेबाज जलज और चंद्रन की फिरकी में फंसकर रह गए। ओडिशा के कुल चार बल्लेबाज ही दहाई के आंकड़े को छू सके। सबसे ज्यादा 26 रन सुब्रांशु सेनापति ने बनाए। राउत ने 23 कप्तान गोविद पोडार ने 22 रनों की पारी खेली।

छत्तीसगढ़ ने उत्तर प्रदेश को 4 विकेट से हराया

इस ग्रुप के अन्य मैच में छत्तीसगढ़ ने उत्तर प्रदेश को चार विकेट से हरा दिया। सुरेश रैना  की कप्तानी वाली उत्तर प्रदेश आखिरी ओवर में चार गेंद रहते हुए 250 रनों पर ऑल आउट हो गई। इस आसान से लक्ष्य को छत्तीसगढ़ ने 49 ओवरों में छह विकेट खोकर हासिल कर लिया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी छत्तीसगढ़ के लिए अमनदीप खरे ने 90 गेंदों में आठ चौकों की मदद से सबसे ज्यादा 78 रन बनाए। विशाल कुशवाह ने 52 और अवनीश धालीवाल ने 50 रनों की पारियां खेलीं।

इससे पहले, उत्तर प्रदेश के शीर्ष क्रम ने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन उसका मध्यक्रम अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सका। जतिन सक्सेना ने उसके निचले क्रम को तोड़ उत्तर प्रदेश को बड़ा स्कोर बनाने से वंचित कर दिया।

सलामी बल्लेबाज और विकेटकीपर उपेंद्र यादव ने उत्तर प्रदेश के लिए 99 गेंदों में 11 चौकों की मदद से 85 रन बनाए। रिंकु सिंह ने 69 गेंदों में चार चौके और दो छक्कों की मदद से 58 रनों की पारी खेली।

मध्यक्रम में सिर्फ प्रियम गर्ग ही 41 रनों का योगदान दे सके।

दिल्‍ली ने वीजेडी प्रणाली से हैदराबाद को 6 विकेट से दी शिकस्‍त

वहीं, इसी ग्रुप के एक अन्य मैच में दिल्ली ने वीजेडी प्रणाली के माध्यम से हैदराबाद को छह विकेट से हरा दिया।

फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेले गए इस मैच में मनन शर्मा ने चार विकेट लेकर हैदराबाद को 205 रनों पर ही समेट दिया था। दिल्ली ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 30.4 ओवरों में 178 रन बना लिए थे और तभी बारिश आ गई। इसके बाद मैच शुरू नहीं हो सका और दिल्ली को वीजेडी प्रणाली के जरिए विजेता घोषित कर दिया गया।

बारिश जब आई तब नीतीश राणा 91 रनों पर नाबाद थे। उनके साथ हिम्मत सिंह 14 रन बनाकर खेल रहे थे। उनमुक्त चंद (0) और ध्रूव शौरे (9) के विकेट 23 रनों पर खोने के बाद राणा ने कप्तान गौतम गंभीर (41) के साथ तीसरे विकेट के लिए 74 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला।

इससे पहले, हैदराबाद के बल्लेबाज विकेट पर पैर जमाने में नाकाम रहे और सिर्फ बावांका संदीप ही 51 रनों की पारी खेल पाने में सफल हुए जिसके लिए उन्होंने 67 गेंदों का सामना किया और पांच चौके जड़े।

(इनपुट-एजेंसी)