युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी ने खेली शतकीय पारियां। © AFP
युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी ने खेली शतकीय पारियां। © AFP

भारत बनाम इंग्लैंड कटक वनडे में भारत ने इंग्लैंड के सामने 382 का लक्ष्य रखा है। भारत की ओर से युवराज सिंह ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़ा को वहीं महेंद्र सिंह धोनी ने भी शतकीय पारी खेली। दोनों खिलाड़ियों ने अपनी इस पारी से दिखा दिया कि वह किसी भी युवा खिलाड़ी से कम नहीं हैं बल्कि अपने अनुभव की मदद से वह कहीं ज्यादा अहम हैं टीम के लिए। शरुआती विकेट खोने के बाद टीम इंडिया के लिए वापस से मैच में जगह बनाना मुश्किल लग रहा था लेकिन युवी-धोनी ने टीम का स्कोर आगे बढ़ाया और इंग्लैंड के सामने एक बड़ा लक्ष्य रखा। युवराज और धोनी दोनों ने ही शतक जड़े। यूवी ने जहां 150 रन बनाए वहीं धोनी ने भी 134 रन बनाए। ये भी पढ़ें:भारत बनाम इंग्लैंड, दूसरा वनडे, कटक(लाइव ब्लॉग)

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया था जो कि पिच के हिसाब से सही था। अगर विराट कोहली टॉस जीतते तो वह भी यही फैसला लेते। हालांकि बाराबाटी की पिच बल्लेबाजी के अनुकूल है लेकिन भारतीय सलामी जोड़ी फिर भी मजबूत शुरुआत देने में नाकाम रही। केएल राहुल एक बार फिर फ्लॉप रहे और केवल पांच रन बनाकर पवेलियन लौटे। पहला विकेट गिरने के बाद मैदान पर आए कप्तान कोहली जिनसे दर्शकों को बड़ी पारी की उम्मीद थी लेकिन इस बार वह फैंस की आकांक्षाओं पर खरे नहीं उतरे। कोहली आठ के स्कोर पर क्रिस वोक्स की गेंद पर बेन स्टोक्स को कैच थमा बैठे। इसके बाद धवन के साथ पारी का जिम्मा संभाला सिक्सर किंग युवराज सिंह ने लेकिन शिखर धवन युवराज का साथ देर तक नहीं दे सके और 11 रन बनाकर बोल्ड हो गए। गौरतलब है कि तीनों ही विकेट वोक्स के खाते में गए। तीन विकेट गिरने के बाद मैदान पर जमी थी भारतीय टीम के एक खास बल्लेबाजी जोड़ी युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी। दोनों बल्लेबाजों ने पहले काफी धैर्य के साथ खेल को धीरे धीरे आगे बढ़ाया। जब शुरआती ओवर निकल गए इसके बाद अपने स्वाभाविक रूप में आए युवराज और छक्कों की झड़ी लगा दी। युवराज ने इस पारी के साथ वनडे का अपना सर्वाधिक स्कोर 150 भी बनाया। वहीं दूसरे छोर पर धोनी ने भी बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए पहले अपना अर्धशतक पूरा किया, जिसके बाद उन्होंने स्ट्राइक को लगातार बदला और इंग्लैंड के गेंदबाजों का हावी नहीं होने दिया। हालांकि युवराज 150 रन पर आउट हो गए लेकिन उनकी यह पारी आज के मैच की सबसे उम्दा पारी है। ये भी पढ़ें:महेंद्र सिंह धोनी वनडे में 200 छक्के लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने

युवराज के जाने के बाद मैदान पर आए पुणे के शतकवीर केदार जाधव। उन्होंने भी आते ही धमाकेदार बल्लेबाजी शुरूृ कर दी। जाधव ने ताबड़तोड़ 22 रन बनाए और अपना काम पूरा कर पवेलियन लौट गए। इसके बाद धोनी का साथ दिया उभरते हुए ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या ने। पांड्या ने आते ही चौके-छक्के लगाना शुरू कर दिया। वहीं धोनी भी 134 रन बनाकर लियाम प्लकेंट की गेंद पर आउट हो गए लेकिन जाने से पहले वह भारतीय टीम को 300 के पार ले आए हैं। धोनी के जाने के बाद पांड्या ने संभाली पारी और बाउंड्री की बरसात जारी रखी। वहीं दूसरे छोर से रवींद्र जडेजा ने भी इंग्लैंड के गेंदबाजों पर कहर ढाया। दोनों बल्लेबाजों ने भारत का स्कोर 381 तक पहुंचाया। भारतीय टीम को शुरुआती बड़े झटके देने के बाद इंग्लैंड को लगा था कि शायद वह मैच मे एकतरफ पकड़ बना सके। लेकिन टीम इंडिया के जय-वीरू की जोड़ी ने उनके इरादों को नाकाम कर दिया। इस पिच पर 330 का स्कोर ठीक है। भारत के पास ऐसे गेंदबाज भी हैं जो इसे डिफेंड कर सकते हैं। अब देखना होगा कि क्या इंग्लैंड मैच में वापसी कर पाती है या फिर कटक वनडे जीतकर सीरीज अपने नान करेगी टीम इंडिया।