Ravi Shastri wants to focus on youth ahead of T20I World Cup, Test Championship
Virat Kohli with Ravi Shastri (File Photo) @ AFP

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि टीम इंडिया के इस शीर्ष पद पर उनके दूसरे कार्यकाल के दौरान ध्यान युवा खिलाड़ियों पर होगा क्योंकि भारत अगले साल होने वाले विश्व टी20 और मौजूदा विश्व चैंपियनशिप के बाद के चरण की तैयारी करेगा।

भारत के पूर्व क्रिकेटर शास्त्री के दिमाग में स्पष्ट है कि उन्हें आगामी दिनों में कैसा संयोजन चाहिए। कैरेबियाई दौरे से लौटने के बाद शास्त्री ने ‘गल्फ न्यूज’ से कहा, ‘‘रास्त यह देखते हुए तैयार किया जाना चाहिए कि आपके पास टी20 विश्व कप के लिए 12 महीने और विश्व टेस्ट चैंपियनिशप के लिए लगभग 18 से 20 महीने हैं।’’

पढ़ें:- बांग्‍लादेश पर जीत के साथ AFG ने इस मामले में की ऑस्‍ट्रेलिया की बराबरी

उन्होंने कहा, ‘‘बदलाव के इस दौर के दौरान युवाओं पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है जिससे कि वे अनुभवी खिलाड़ियों के साथ घुल मिल जाएं और हमें बेहद मजबूत टीम दें।’’

कोच ने प्रदर्शन में निरंतरता और बेंच स्ट्रैंथ को मजबूत करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘हमारा लक्ष्य है कि प्रदर्शन में निरंतरता बनी रहे। टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है और युवाओं पर नजर रखनी होगी और साथ ही खेल के तीनों प्रारूपों में बल्लेबाजी और गेंदबाजी में बेंच स्ट्रैंथ तैयार करने पर भी।’’

शास्त्री ने कहा, ‘‘इस दौरान साथ ही हमें इस लक्ष्य से ध्यान नहीं भटकाना होगा कि आप जीत के लिए खेलते हैं। कभी इस लक्ष्य को मत भूलो लेकिन साथ ही युवाओं में निवेश करो।’’

पढ़ें:- टेस्‍ट सीरीज के लिए साउथ अफ्रीका ने मजूमदार को बनाया अपना बल्‍लेबाजी कोच

शास्त्री ने साथ ही कहा कि अंक दांव पर लगे होने के कारण विश्व टेस्ट चैंपियनशिप गंभीर टूर्नामेंट है। ‘‘हम स्वदेश में खेलेंगे (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ) और यह विश्व टेस्ट चैंपियनशिप है- इसलिए अब और अधिक कारण है कि आपको अच्छा प्रदर्शन करना होगा। हम अब जुड़ेंगे।’’

शास्त्री ने कहा, ‘‘हम दुनिया की नंबर एक टीम हैं और हम पिछले तीन साल से शीर्ष पर हैं इसलिए प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है। इसलिए हम प्रदर्शन में इस निरंतरता को जारी रखना चाहते हैं और सुनिश्चित करना चाहते हैं कि जब यह तय करने का समय आए कि कौन फाइनल में खेलेगा तो हम अंक तालिका में अच्छी स्थिति में हों।’’

शास्त्री खुश हैं कि उनकी टीम वेस्टइंडीज में अजेय अभियान जारी रखने में सफल रही और कैरेबियाई देशों में ऐसा करने वाली पहली टीम बनी।

पढ़ें:- कप्‍तानी छोड़ने के सवाल पर जो रूट ने दी प्रतिक्रिया, कहा- मैंने…

उन्होंने कहा, ‘‘वेस्टइंडीज को वेस्टइंडीज में तीनों प्रारूपों में हराना विशेषकर सीमित ओवरों के प्रारूप और टेस्ट मैचों में, मुझे लगता है कि यह अभूतपूर्व है। एक टीम कैरेबियाई दौरे पर जाए और कोई मैच नहीं गंवाए, मुझे नहीं लगता कि अतीत में ऐसा हुआ है और निकट भविष्य में भी यह आसानी से नहीं होगा।’’