Shoaib Akhtar at it Again, Says Turned Down 175,000 Pound Contract with Nottinghamshire to Fight Kargil War
Shoaib Akhtar @getty (File image)

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने दावा किया है कि उन्होंने 1999 में हुए करगिल युद्ध में हिस्सा लेने के लिए इंग्लिश काउंटी नॉटिंघमशायर से मिले 175,000 पाउंड के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। करगिल युद्ध 16000 फीट की ऊंचाई पर लड़ा गया था जिसमें 1,042 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे जबकि 527 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे।

आयरलैंड के ऑलराउंडर कुर्टिस कैंफर ने रचा इतिहास, हासिल की ये बड़ी उपलब्धि

अख्तर ने पाकिस्तान के समाचार चैनल एआरवाई न्यूज को दिए गए इंटरव्यू में कहा, ‘लोग शायद ही इस कहानी को जानते हों। मेरे पास नॉटिंघम का 175,000 पाउंड के कांट्रैक्ट का प्रस्ताव था। फिर 2002 में मेरे पास एक और बड़ा अनुबंध था। जब करगिल हुआ तो मैंने दोनों प्रस्ताव ठुकरा दिए थे।’

उन्होंने कहा, ‘मैं लाहौर की बाहरी सीमा पर था। एक जनरल ने मुझसे पूछा कि मैं यहां क्या कर रहा हूं। मैंने कहा कि युद्ध शुरू होने वाला है और हम लोग एक साथ मरेंगे। मैंने काउंटी क्रिकेट को दो बार छोड़ा और काउंटी इससे हैरान थीं। मैं इससे चिंतित नहीं था। मैंने कश्मीर में अपने दोस्तों को फोन किया और कहा कि मैं लड़ाई के लिए तैयार हूं।’

CPL 2020 Live Streaming: जानिए कैरेबियन प्रीमियर लीग के शेड्यूल, वेन्यू, समय और स्क्वॉड के बारे में

अख्तर ने बार-बार कहा है कि खेल और राजनीति को अलग-अलग रखना चाहिए। उन्होंने कई बार कहा है कि दोनों देशों के बीच मैदान पर बेशक कड़ी टक्कर होती हो लेकिन मैदान के बाहर खिलाड़ी अच्छे दोस्त बनकर रहते हैं।

अख्तर ने कोरोनावायरस के समय में भारत और पाकिस्तान के बीच सीरीज की भी बात कही थी। उनके पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने अख्तर का समर्थन किया था तो भारत के विश्व विजेता कप्तान कपिल देव ने कहा था कि यह तो विकल्प ही नहीं है।