live cricket score, live score, live score cricket, india vs england live, india vs england live score, ind vs england live cricket score, india vs england 4th test match live, india vs england 4th test live, cricket live score, cricket score, cricket, live cricket streaming, live cricket video, live cricket, cricket live  Mumbai
भारत बनाम इंग्लैंड वानखेड़े टेस्ट में जयंत यादव ने लगाया शतक। © AFP

भारतीय क्रिकेट टीम इस समय इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन कर रही है। कप्तान विराट कोहली बेहतरीन फॉर्म में हैं, लगभरग हर मैच में कोहली शतक जड़ रहे है। वहीं रविचंद्रन अश्विन भारतीय टीम के लिए बल्ले और गेंद दोनों से ही शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। अश्विन इस सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज है। लेकिन इस सीरीज में भारतीय टीम को एक ऐसा खिलाड़ी मिला है जो इस टीम का अगला मैचविनर बन सकता है, वह खिलाड़ी है जयंत यादव। जयंत ने वानखेड़े टेस्ट में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर का पहला टेस्ट शतक जड़ा। यह पारी भारतीय टीम के लिए कई मायनों मे अहम है। हरियाणा के इस ऑफ स्पिनर गेंदबाज को भारत बनाम न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया था लेकिन यादव किसी भी टेस्ट मैच में अंतिम एकादश में जगह नहीं बना पाए। जयंत ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के आखिरी मैच में, इस मैच में यादव ने बेहतरीन गेंदबाजी की और कोरी एडरसन के रूप में अपना पहला वनडे विकेट लिया। ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड, चौथा टेस्ट, चौथा दिन(लाइव ब्लॉग): विराट कोहली का दोहरा शतक, भारत ने ली 150 रनों से ऊपर की लीड

यादव को अगला मौका मिला भारत बनाम इंग्लैड टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में। भारत मुश्किल से राजकोट में खेला गया पहला टेस्ट ड्रॉ करा पाया था और अब दूसरे टेस्ट में उसे गलतियों को दोहराना नहीं था। भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। भारत के दोनों सलामी बल्लेबाजों मुरली विजय और केएल राहुल के सस्ते में आउट होने के बाद विराट कोहली ने चेतेश्वर पुजारा के साथ पारी को संभाला। दोनों ने ही शानदार शतक जड़े लेकिन 248 के स्कोर पर भारत ने पुजारा के रूप में तीसरा विकेट खो दिया। इसके बाद तो जैसे विकेटों की झड़ी लग गई। अजिंक्य रहाणे, कोहली, रिद्धिमान साहा के बाद रवींद्र जडेजा भी जल्दी आउट हो गए। एक छोर पर अश्विन टिके थे लेकिन कोई उनका साथ नहीं दे पा रहा था। वहीं जडेजा के आउट होते ही मैदान पर आए अपना डेब्यू मैच खेल रहे जयंत यादव। यादव से एक बड़ी पारी की उम्मीद शायद किसी को नहीं थी लेकिन खुद से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जयंत को जरूर थी। जब वह मैदान पर आए तो भारत का स्कोर 363 था। जयंत ने अश्विन के साथ मिलकर एक अहम साझेदारी बनाई और भारत का स्कोर 400 के पार पहुंचाया। यादव ने कुल 35 रन बनाए जिसमें तीन चौके भी शामिल हैं। यादव किसी नौसिखिए या पार्टटाइम बल्लेबाजी की तरह नहीं खेलते, यह उन्हें खेलते देख कर कोई भी समझ जाए। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनके नाम दोहरा शतक है साथ ही टेस्ट में वह 58.50 की औसत से खेलते हैं और उनका स्ट्राइक रेट 41.19 का है। ये भी पढ़ें: भारतीय बल्लेबाज मुरली विजय ने अपना शतक दोस्त के दिवंगत पिता को समर्पित किया

गेंद और बल्ले दोनों से कमाल दिखा रहे हैं जयंत यादव। © IANS
गेंद और बल्ले दोनों से कमाल दिखा रहे हैं जयंत यादव। © IANS

अब जयंत की गेंदबाजी की बात करें तो यहां भी आंकड़े काबिले तारीफ हैं। यादव ने वानखेड़े टेस्ट में भी एक छोर से लगातार विकेट गिरने के बाद कप्तान कोहली का साथ दिया। यादव ने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में अब तक खेले गए तीन मैचों वह 189 रन बना चुके हैं। जयंत ने इस मैच में अपना पहला टेस्ट शतक लगाया है। यादव ने इस पारी में 15 बाउंड्री भी लगाई हैं। भारत के पूर्व खिलाड़ी और टेस्ट क्रिकेट के महान बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने भी क्रिकेटकंट्री से बात करते हुए कहा, “मैने भारत के लिए अब तक इससे बेहतर निचले क्रम की बल्लेबाजी नहीं देखी है।” लक्ष्मण की बात सौ फीसदी सही है क्योंकि नौ नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए शतक बनाने वाले जयंत यादव पहले भारतीय बन गए हैं। इस स्थान पर खेलते हुए किसी भारतीय खिलाड़ी द्वारा बना अब तक का सर्वाधिक स्कोर 90 था जो पूर्व भारतीय खिलाड़ी फारुख इंजीनियर ने बनाया था। वहीं अनिल कुंबले के 88 रन और करसन गरवी के बनाए 86 रन भी इस सूची में शामिल हैं। ये भी पढ़ें: चौथा टेस्ट, लंच रिपोर्ट; विराट कोहली और जयंत यादव ने भारत को बड़ी बढ़त दिलाई

भारतीय पिछले काफी सालों से ऑल राउंडर्स की परेशानी से जूझ रही थी। भारत के सीमित ओवर के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी इस पक्ष पर कई बार बात की है। धोनी की कप्तानी नें आर अश्विन जैसा ऑल राउंडर भारतीय टीम को मिला और अब कोहली की कप्तानी में एक और मैचविनर तैयार हो रहा है। जयंत यादव भारत के मजबूत होते निचले क्रम का एक खूबसूरत उदाहरण हैं। विराट कोहली भी जयंत यादव की काफी तारीफ कर चुके हैं। उनका कहना है कि यादव को अब एक ऑल राउंडर कहा जा सकता है। वह इस जिम्मेदारी के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। कोहली ने कहा, “मैं उसके प्रदर्शन से काफी प्रभावित हूं। मुझे उसे कुछ भी कहना नहीं पड़ता, वह अपनी फील्ड खुद सजाता है और यह जानता है कि उसे कहां गेंद करनी है। वह काफी समझदार है और खेल की सभी बारिकियों से वाकिफ है।”कोहली ने आगे यह भी कहा था कि आने वाले सालों में जयंत यादव कई मैचविनिंग पारियां खेलते नज़र आएगे। ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्ड

जयंत यादव एक परफेक्ट पैकेज हैं। वह गेंद और बल्ले दोनों से अपना सौ प्रतिशत प्रदर्शन करते हैं और मुश्किल समय में रन बनाते हैं। जयंत के टीम में होने से न सिर्फ निचले बल्लेबाजी क्रम को सदृढ़ता मिलेगी बल्कि अश्विन और जडेजा पर भी निर्भरता कम होगी। यादव धीरे धीरे भारतीय टीम में अपनी स्थाई जगह बना रहे हैं। वनडे में भले ही अब तक कुछ खास नहीं कर पाए हैं जयंत लेकिन यह बात तय है कि वह एक पूर्ण रूप से परिपक्व टेस्ट खिलाड़ी हैं और आने वाले समय में भारत से मैचविनर ऑल राउंडर।