World Cup Countdown:  Five most wicket taking bowlers in world cup history
Mcgrath, Murlitharan, zaheer, Akram

आईसीसी क्रिकेट विश्‍व कप में एक ओर जहां सबसे अधिक मैच खेलने का रिकॉर्ड ऑस्‍ट्रेलियाई दिग्‍गज रिकी पोंटिंग के नाम है वहीं इस महाकुंभ में सर्वाधिक विकेट झटकने का विश्‍व कीर्तिमान भी ऑस्‍ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज ग्‍लेन मैक्‍ग्रा के नाम दर्ज है।

किसी टीम को विश्‍व चैंपियन बनाने में बल्‍लेबाजों का जितना योगदान होता है उतना ही गेंदबाजों का भी होता है। आईसीसी का 12वां वनडे विश्‍व कप 30 मई से इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स में शुरू होने जा रहा है। विश्‍व कप में सर्वाधिक विकेट झटकने वाले 5 गेंदबाज  इस प्रकार हैं :  (World Cup 2019 Schedule)

ग्‍लेन मैक्‍ग्रा (ऑस्‍ट्रेलिया) – 71 विकेट

अपनी सटीक लाइन और लेंथ के लिए विख्‍यात ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ग्‍लेन मैक्‍ग्रा विश्‍व कप के महान गेंदबाज हैं। मैक्‍ग्रा ने विश्‍व कप के 39 मैचों में कुल 71 विकेट अपने नाम किए हैं।

मैक्‍ग्रा ने अपने डेब्‍यू वर्ल्‍ड कप (1996) में 7 मैचों में 6 विकेट लिए थे। इसके बाद 1999 के विश्‍व कप में उन्‍होंने 20 विकेट लिए जहां ऑस्‍ट्रेलिया की टीम चैंपियन बनी। इस विश्‍व कप में सर्वाधिक विकेट झटकने के मामले में ये ऑस्‍ट्रेलियाई पेसर तीसरे स्‍थान पर रहा।

पढ़ें: ‘विश्व कप में हमारे बल्‍लेबाजों से निपटना है तो बनानी होगी आक्रामक योजना’

वर्ष 2003 में ऑस्‍ट्रेलिया ने अपना विश्‍व खिताब बरकरार रखा। मैक्‍ग्रा ने इस विश्‍व कप में 23 विकेट लिए और सबसे अधिक विकेट लेने के मामले में यहां भी तीसरे स्‍थान पर रहे। ऑस्‍ट्रेलियाई टीम इस टूर्नामेंट में अजेय रही।

अपने चौथे और अंतिम वर्ल्‍ड कप में मैक्‍ग्रा ने 13.73 की औसत से कुल 26 विकेट निकालकर नए बेंच मार्क स्‍थापित किए। किसी एक विश्‍व कप में ये सबसे अधिक विकेट किसी गेंदबाज का था। उन्‍होंने अपना वनडे करियर 2007 के विश्‍व कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहकर खत्‍म किया। ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने उस वर्ष विश्‍व चैंपियन बनकर खिताब की हैट्रिक पूरी की।

मुथैया मुरलीधरन (श्रीलंका)- 68 विकेट

महान श्रीलंकाई दिग्‍गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन नाम के मोहताज नहीं हैं। टेस्‍ट में रिकॉर्ड 800 विकेट अपने नाम करने वाले मुरलीधरन वर्ल्‍ड में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्‍ट में दूसरे नंबर पर हैं।

मुरलीधरन ने 5 वर्ल्‍ड कप खेले हैं। उन्‍होंने इस दौरान 40 मैचों में 19.63 की औसत से कुल 68 विकेट चटकाए हैं जिसमें चार बार 4 या इससे अधिक बार किसी एक मैच में विकेट किाले हैं।

मुरलीधरन ने 1996 और 1999 विश्‍व कप के 11 मैचों में 13 विकेट चटकाए थे। 2003 के वर्ल्‍ड कप में इस श्रीलंकाई गेंदबाज ने 10 मैचों में 17 विकेट अपनी झोली में डाले थे। 2007 के वर्ल्‍ड कप में श्रीलंका को फाइनल में पहुंचाने में अहम योगदान देने वाले मुरलीधरन ने 10 मैचों में 23 विकेट चटकाए थे।

पढ़ें: वेंगसरकर ने बताया नंबर-4 के लिए अपने फेवरेट खिलाड़ी का नाम

मुरली 2011 विश्‍व कप में भी श्रींका की ओर से सर्वाधिक विकेट झटकने वाले गेंदबाज रहे। उन्‍होंने 9 मैचों में 15 विकेट लिए जो उनका अंतिम वर्ल्‍ड कप साबित हुआ। श्रीलंकाई टीम लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची थी।

वसीम अकरम (पाकिस्‍तान)- 55 विकेट

वनडे में 502 विकेट चटकाने वाले पाकिस्‍तान के बांए हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने 5 वर्ल्‍ड कप में हिस्‍सा लिया है। उन्‍होंने इस दौरान कुल 38 मैच खेले जिसमें 23.83 की औसत से कुल 55 विकेट अपने नाम किए। अकरम वर्ल्‍ड कप के इतिहास में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्‍ट में तीसरे नंबर पर हैं।

1987 का वर्ल्‍ड कप अकरम के लिए डेब्‍यू विश्‍व कप था। उन्‍होंने उस वर्ल्‍ड कप में कुल 7 विकेट लिए थे। इसके बाद उनका प्रदर्शन निखरता चला गया। अगले विश्‍व कप में अकरम ने 10 मैचों में 18 विकेट निकाले जब पाकिस्‍तान की टीम चैंपियन बनी।

पढ़ें: कुलदीप ने बताया आंद्रे रसेल को विश्‍व कप में काबू करने का तरीका

जब विश्‍व कप की सब कॉन्टिनेंट में वापसी हुई वो विश्‍व कप अकरम के लिए भूल जाने वाला रहा। अकरम ने 5 मैचों में केवल 3 विकेट लिए। इसके बाद 1999 के वर्ल्‍ड कप में अकरम ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 15 विकेट निकाले थे और पाकिस्‍तान को फाइनल में पहुंचाया था। साल 2003 के वर्ल्‍ड कप में अकरम ने 16.75 की औसत से कुल 12 विकेट अपने नाम किए। हालांकि पाक टीम ग्रुप स्‍टेज में ही बाहर हो गई थी।

चामिंडा वास (श्रीलंका)- 49 विकेट

श्रीलंका के बाएं हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज चामिंडा वास वनडे इंटरनेशनल में सबसे अधिक विकेट झटकने वाले गेंदबाजों की लिस्‍ट में चौथे नंबर पर हैं। वास ने वनडे में कुल 400 विकेट अपने नाम किए हैं।

वास के पहले वर्ल्‍ड कप में ही श्रीलंका की टीम चैंपियन बनी थी। हालांकि वो विश्‍व कप व्‍यक्तिगत रूप से उनके लिए अच्‍छा नहीं रहा। शुरुआती दो चतुष्‍कोणीय टूर्नामेंट में वास ने 11 मैचों में कुल 13 विकेट निकाले।

पढ़ें: विश्व कप में बन सकते हैं पारी में 500 रन, ECB ने बदला फैंस स्कोरकार्ड

इसके बाद श्रीलंका के इस पूर्व पेसर ने अगले वर्ल्‍ड कप में रिकॉर्ड 23 विकेट निकाले थे। हालांकि अंतिम चार में श्रीलंका को चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा। इसके चार साल बाद वेस्‍टइंडीज में आयोजित विश्‍व कप में वास ने 10 मैचों में 13 विकेट लिए और वो उस विश्‍व कप में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों में तीसरे नंबर पर रहे।

जहीर खान (भारत)- 44 विकेट

भारत के सर्वश्रेष्‍ठ तेज गेंदबाजों में से एक जहीर खान ने तीन वर्ल्‍ड कप खेले हैं। पहली बार 2003 में वर्ल्‍ड कप खेलने वाले इस बाएं हाथ के पूर्व पेसर ने 18 अपने नाम किए थे। जहीर उस समय वर्ल्‍ड कप में सर्वाधिक विकेट लेने वाले चौथे गेंदबाज रहे थे।

पढ़ें: चहल ने स्‍वीकारा, बोले- ‘पिछले साल इंग्‍लैंड दौरे पर मैंने की थी काफी गलतियां’

उस विश्‍व कप के फाइनल में भारत और ऑस्‍ट्रेलिया की टीमें आमने-सामने थीं। फाइनल में जहीर का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था। उन्‍होंने 8 ओवर में बिना कोई विकेट हासिल किए 67 रन लुटा दिए थे।

2007 का वर्ल्‍ड कप भारत के लिए बेहद निराशाजनक रहा था। उस विश्‍व कप में टीम इंडिया तीन मैच में से दो मैच हारकर ग्रुप स्‍टेज में ही बाहर हो गई थी। जहीर ने उस विश्‍व कप में 5 विकेट लिए थे। 2011 विश्‍व कप में जहीर ने 21 विकेट अपने नाम किए थे। भारतीय टीम ने फाइनल में श्रीलंका को हराकर दूसरी बार विश्‍व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था।