भारतीय महिला टीम ने इस साल छठीं बार एशिया कप खिताब जीता।
भारतीय महिला टीम ने इस साल छठीं बार एशिया कप खिताब जीता।

साल 2016 केवल भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के लिए ही नहीं बल्कि महिला क्रिकेट टीम के लिए भी खास रहा है। इस साल भारतीय महिला क्रिकेट टीम काफी लाइमलाइट में रही और कई बड़े मुकाम हासिल किए। भारत में क्रिकेट भले ही सबसे अधिक प्रसिद्ध खेल है लेकिन महिला क्रिकेट टीम को कभी वह अहमियत नहीं मिली जो पुरुष क्रिकेट टीम को मिलती है। हालांकि साल 2016 ने इस तथ्य को काफी हद तक बदला और आखिरकार महिला क्रिकेट टीम को भी वह प्रसिद्धी मिली जिसकी वह हकदार है। हालांकि इसके पीछे टीम का कड़ी मेहनत शामिल है, इस साल महिला टीम ने कुछ बड़े लक्ष्य हासिल किए और विश्व पटल पर अपनी पहचान खुद बनाई। ये भी पढ़ें: साल 2016 में भारतीय गेंदबाजी के पांच सबसे यादगार पल

1- आस्ट्रेलिया दौरा: साल की शुरूआत भारतीय महिला और पुरुष दोनों ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से की थी। पुरुष टीम ने जहां टेस्ट सीरीज गंवाई थी वहीं महिला टीम ने पहले टी20 सीरीज में 2-1 से जीत हासिल की और फिर वनडे सीरीज में 2-1 से हार का सामना भी किया। टी20 और वनडे सीरीज दोनों में ही भारतीय टीम का प्रदर्शन उम्दा रहा। भारत की ओर से पहले मैच में हरमनप्रीत कौर ने 46 रनों का शानदार पारी खेली थी और प्लेयर ऑफ द मैच रही थी। वहीं दूसरे मैच में 16 रन देकर दो विकेट लेने वाली तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी प्लेयर ऑफ द मैच रही थी। झूलन ने पूरी सीरीज में बेहतरनी गेंदबाजी की और प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब जीता। ये भी पढ़ें: साल 2016 में क्रिकेटरों द्वारा किए 10 सबसे खास ट्वीट

2-श्रीलंका का भारत दौरा: जनवरी में ऑस्ट्रेलिया का सफल दौरा कर लौटी भारतीय टीम ने घरेलू सीरीज में श्रीलंका टीम को मात दी। श्रीलंका ने 15 फरवरी से भारत दौरा शुरू किया था जहां दोनों टीमों को पहले तीन मैचों की टी20 सीरीज और फिर तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी थी। भारतीय टीम ने इस बार मेहमान टीम पर कोई रहम नहीं किया और वनडे-टी20 दोनों सीरीज में श्रीलंका को क्लीन स्वीप किया। पहले वनडे में भारतीय टीम ने 107 के बड़े मार्जिन से जीत हासिल की वहीं दूसरे मैच में छह विकेट से भारत ने जीत दर्ज की। तीसरे मैच में दीप्ति शर्मा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए छह विकेट चटकाए और श्रीलंकन पारी को 112 रन पर समेट दिया। भारत ने यह मैच भी आसानी से जीत लिया। वहीं टी20 सीरीज में भी श्रीलंका टीम वापसी नहीं कर पाई। भारत ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए तीनों टी20 मैच जीत लिए। हालांकि भारतीय टीम भारत में आयोजित टी20 विश्व कप हार गई लेकिन भारतीय टीम ने इसे अपने प्रदर्शन पर हावी नहीं होने दिया और आगे आने वाले मैचों में जीत के लिए पूरा प्रयास किया। ये भी पढ़ें: ये हैं साल 2016 के शीर्ष 10 बेहतरीन वनडे गेंदबाज

3-वेस्टइंडीज को किया क्लीन स्वीप: ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में ही हराने के बाद भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज तो घरेलू सीरीज में हराया। वेस्टइंडीज के भारत दौरे पर खेली गई टी20 सीरीज में भारत ने मेहमान टीम को 3-0 से क्लीन स्वीप किया। विजयवाड़ा स्टेडियम में खेले गए तीनों मैचों में भारत ने जीत हासिल की। पहले मैच की नायिका रही वेदा कृष्णमूर्ति जिन्होंने अर्धशतक लगाकर भारतीय टीम को जीत दिलाई। वहीं दूसरे मैच में भारत की जीत की कमान संभाली कप्तान मिताली राज ने स्मृति मंधाना के साथ मिलकर भारत को जीत की ओर ले गई। तीसरे मैच में एक बार फिर वेदा ने शानदार बल्लेबाजी की हालांकि वह शतक से चूक गई लेकिन उन्होंने 71 रनों की बेहतरीन पारी खेली। ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने साल 2016 में बनाए अनगिनत कीर्तिमान

4-एशिया कप 2016: इस साल भारतीय महिला टीम की सबसे बड़ी उपलब्धि रही है छठीं बार एशिया का चैम्पियन बनना। भारत ने पाकिस्तान को हराकर छठीं बार एशिया कप पर कब्जा किया। भारत ने इस टूर्नामेंट में अपनी सभी ग्रुप मैच जीते और लगातार जीत हासिल कर फाइनल में जगह बनाई। बैंगकॉक में खेले जा रहे इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। भारत की ओर से मिताली राज ने 73 रनों की धमाकेदार पारी खेली और भारत का स्कोर 121 रन तक पहुंचाया। वहीं रनों का पीछा करने उतरी पाकिस्तानी टीम की कोई भी बल्लेबाज ज्यादा समय तक टिक नहीं पाई। भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तान की पारी को 104 रन पर समेट कर 17 रनों से मैच जीत लिया। इसी के साथ भारत एक बार फिर एशिया महाद्वीप की चैम्पियन टीम बन गई। अब तक एशिया कप टूर्नामेंट कुल छह बार हुआ है जिसमें से पहले चार बार इसे वनडे फॉर्मेट में आयोजित कराया गया था जबकि आखिरी दो बार टी20 फॉर्मेट में खेला गया। भारत हर बार इस टूर्नामेंट को जीतता आया है और इस साल भी भारतीय टीम ने ही इस खिताब पर कब्जा किया। ये भी पढ़ें: साल 2016 में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज

5-विमैन बिग बैश लीग में भारतीय खिलाड़ी: भारतीय टीम ने इस साल अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त की और इसका नतीजा यह रहा कि बिग बैश लीग जैसे बड़े टूर्नामेंट में पहली बार किसी भारतीय खिलाड़ी को शामिल किया गया। भारतीय महिला टी20 टीम का कप्तान हरमनप्रीत कौर विमैन बिग बैश लीग में खेलने वाली पहली भारतीय क्रिकेटर बनी। साथ ही स्मृति मंधाना भी इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली दूसरी भारतीय खिलाड़ी रही। इससे पहले कोई भी भारतीय खिलाड़ी चाहे वह पुरुष हो या महिला इस टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं बना है। इस साल ही यह पहली बार हुआ है कि बिग बैश लीग में एक साथ दो भारतीय चेहरे नज़र आए हो। ये भी पढ़ें: साल 2016 के पांच सबसे सफल टेस्ट कप्तान

6-आईसीसी टीम ऑफ द ईयर में नाम: हर वर्ष आईसीसी पुरुष टेस्ट और वनडे टीम ऑफ द ईयर की घोषणा करती है। इस सूची में साल भर बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले 12 खिलाड़ियों को जगह दी जाती है। इस साल एक नई शुरूआत करते हुए आईसीसी ने पहली बार महिला टीम ऑफ द ईयर का ऐलान किया और इस टीम में शामिल अकेली भारतीय बनी स्मृति मंधाना। स्मृति को इस टीम में तीसरे स्थान की बल्लेबाज के बतौर शामिल किया गया। यह घोषणा न केवल भारतीय महिला टीम बल्कि विश्व महिला क्रिकेट के लिए अहम है। इससे यह साबित होता है कि आईसीसी सिर्फ पुरुष टीम पर ही नहीं बल्कि महिला क्रिकेट टीम पर भी ध्यान दे रहा है। हालांकि अभी यह अंतर काफी बड़ा है क्योंकि महिला क्रिकेटरों को मिलने वाली सुविधाएं पुरुष खिलाड़ियों को मुकबाले कहीं कम हैं लेकिन साल 2016 ने कई चीजों में बदलाव की शुरूआत की है। उम्मीद है कि आने वाले सालों में इस दिशा में कई और सकारात्मक बदलाव किए जाएंगे।