ICC WORLD CUP 2019: 5 Teams with strongest batting lineups
Bairstow, kohli, warner, Gayle, Guptil

पिछले कुछ वर्षों से लिमिटेड ओवर की क्रिकेट में ढेरों रन बन रहे हैं। बल्‍लेबाज बेहतरीन स्‍ट्राइक रेट से तेजी से रन बना रहे हैं। परिस्थितियां या यूं कहें कि सफेद गेंद बल्‍लेबाजों को काफी रास आ रही है। दो नई गेंद, सपाट पिचें और बाउंड्री के छोटा होने से बल्‍लेबाजों के लिए मानों लॉटरी लग गई है।

पढ़ें: अपने अंतिम वर्ल्‍ड कप को यादगार बनाने उतरेंगे कैप्‍टन ‘कूल’

इस समय वनडे में 300 रन भी विनिंग स्‍कोर नहीं है। इसका उदाहरण हाल में संपन्‍न इंग्‍लैंड और पाकिस्‍तान के बीच 5 मैचों की वनडे सीरीज है जहां 350 रन भी चेज हुए। पिछले वर्ल्‍ड कप (2015) से अब तक कुल 53 बार 350 या इससे अधिक का स्‍कोर चेज हुआ है।

इंग्‍लैंड में 30 मई से आयोजित होने वाले 12वें आईसीसी विश्‍व कप में भी रनों की बरसात हो सकती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि पिछले कुछ वर्षों से यहां की पिचें बल्‍लेबाजों के मुफीद रही हैं। इस विश्‍व कप में हिस्‍सा ले रही सभी 10 टीमों के बल्‍लेबाज भी ढेरों रन बनाकर अपनी टीम का मनोबल उंचा रखना चाहेंगे।

पढ़ें: विश्‍व कप में 40 साल के ताहिर सबसे उम्रदराज, मुजीब होंगे सबसे युवा

इस विश्‍व कप में इंग्‍लैंड की बैटिंग लाइन अप सबसे मजबूत मानी जा रही है। जबकि दूसरे नंबर पर भारत और तीसरे पर मौजूदा चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया की बल्‍लेबाजी क्रम है। आइए जानते हैं वर्ल्‍ड कप की सबसे मजबूत 5 बल्‍लेबाजी टीमों के बारे में:

इंग्‍लैंड

इंग्‍लैंड के लिए 2015 का विश्‍व कप किसी बुरे सपने की तरह था तक टीम को लीग स्‍तर में ही हारकर टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा था। इसके बाद से इंग्लिश टीम में काफी बदलाव देखने को मिला है। इस विश्‍व कप में इंग्लिश टीम को बल्‍लेबाजी के लिहाज से काफी मजबूत माना जा रहा है। इयोन मोर्गन की कप्‍तानी वाली इंग्‍लैंड की टीम ने वनडे में पिछले कुछ मैचों से लगातार 300 रन बना रही है।

पढ़ें:  इस वर्ल्‍ड कप में आखिरी बार दिखेगा इन महारथियों का खेल

इंग्‍लैंड की टीम में पावर हिटर्स के अलावा निचले क्रम में भी बल्‍लेबाजों की भरमार है। शीर्ष क्रम में जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्‍टो विस्‍फोटक शुरुआत के लिए जाने जाते हैं। जो रूट और मोर्गन में परिस्थितियों के मुताबिक बल्‍लेबाजी करने की क्षमता है। इसके बाद जोस बटलर, बेन स्‍टोक्‍स और मोइन अली का नंबर आता है जो अकेले अपने दम पर मैच का रुख बदलने का माद्दा रखते हैं।

इस समय वर्ल्‍ड के बेस्‍ट लोअर ऑर्डर इंग्‍लैंड की टीम में मौजूद हैं। यहां तक की आदिल राशिद जिन्‍होंने फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में कई सेंचुरी लगाई है। वो नंबर 10 और 11 पर अच्‍छी बल्‍लेबाजी कर सकते हैं।

भारत

भारतीय टीम में हमेशा से बल्‍लेबाजों की भरमार रही है। इसने कई महान बल्‍लेबाज दिए हैं। वर्तमान में वनडे क्रिकेट में वर्ल्‍ड की टॉप तीन में भारतीय टीम शुमार है। रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली ने कई बार अपनी बेहतरीन बल्‍लेबाजी से टीम इंडिया को जीत दिलाई है।

पढ़ें:  टीम इंडिया की पेस बैटरी वर्ल्‍ड कप में कहर बरपाने को तैयार

हालांकि भारतीय टीम के लिए विश्‍व कप में नंबर चार बल्‍लेबाजी को लेकर उलझन है। पिछले चार वर्षों से टीम इंडिया अपनी इस समस्‍या का समाधान नहीं ढूढ पाई है। जरूरत पड़ने पर महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव को कई बार इस क्रम पर आजमाया गया है।

यदि ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या अपने आईपीएल के बेहतरीन फॉर्म को बरकरार रखते हैं तो वो वर्ल्‍ड कप में शानदार फिनिशर की भूमिका निभा सकते हैं। दो बार की चैंपियन भारतीय टीम का लोअर ऑर्डर भी चिंता का विषय है। टीम इंडिया के टॉप के सात बल्‍लेबाज अच्‍छी बल्‍लेबाजी की कुव्‍वत रखते हैं।

ऑस्‍ट्रेलिया

यदि इस लिस्‍ट में पिछले दो या तीन महीने में ऑस्‍ट्रेलिया की टीम को देखते तो वो सबसे निचले क्रम पर होती। हाल के महीनों में ऑस्‍ट्रेलिया के लिए कई चीजें बदली है। कंगारू टीम के बल्‍लेबाजों ने लगातार अच्‍छी बल्‍लेबाजी की और टीम को जीत दिलाई है।

उपरी क्रम में उस्‍मान ख्‍वाजा और एरोन फिंच ने अच्‍छे समय पर लय हासिल की है। वनडे टीम से अंदर-बाहर होते रहे शॉन मार्श भी बेहतरीन फॉर्म में हैं। ऑस्‍ट्रेलिया के पास ग्‍लेन मैक्‍सवेल और मार्कस स्‍टोइनिस के रूप में अच्‍छे ऑलराउंडर का विकल्‍प है जो समय पड़ने पर पावर हिटर्स का काम कर सकते हैं।

पढ़ें: कुलदीप-चहल कोहली के ‘ब्रह्मास्त्र’, इंग्‍लैंड की सपाट पिचों पर दिखाएंगे कमाल

डेविड वॉर्नर और स्‍टीव स्मिथ की वापसी से ऑस्‍ट्रेलिया का बल्‍लेबाजी क्रम मजबूत हुआ है।

वेस्‍टइंडीज

वेस्‍टइंडीज ने आखिरी बार बांग्‍लादेश के खिलाफ 2014 में वनडे सीरीज जीती थी। उसके बाद से विंडीज टीम का वनडे में कुछ खास प्रदर्शन नहीं रहा। हालांकि इस टीम में बड़ा स्‍कोर चेज करने का माद्दा है। शाई होप के साथ अनुभवी विस्‍फोटक ओपनर क्रिस गेल अच्‍छी लय में दिखाई दे रहे हैं।

पढ़ें: 5 बार की विश्‍व चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया का इंग्‍लैंड में ये वर्ल्‍ड रिकॉर्ड होगा दांव पर

मध्‍यक्रम में शिमरोन हेटमायेर और डेरेन ब्रावो होंगे। ऑलराउंडर आंद्रे रसेल इस समय बेहतरीन फॉर्म में हैं। विंडीज टीम बल्‍लेबाजी में एक खतरनाक टीम साबित हो सकती है।

न्‍यूजीलैंड

न्‍यूजीलैंड की बल्‍लेबाजी लाइनअप पिछले वर्ल्‍ड कप (2015) की तरह शायद नहीं है। हालांकि टॉप ऑर्डर में देखें तो अनुभवी मार्टिन गुप्टिल और केन विलियमसन के साथ मध्‍यक्रम में अनुभवी रॉस टेलर हैं। उपरोक्‍त तीनों बल्‍लेबाजों के इर्द-गिर्द ही कीवी टीम की बल्‍लेबाजी निर्भर करेगी। मिडिल ऑर्डर ने हालांकि कई बार अच्‍छा प्रदर्शन किया है जिसमें जिमी नीशम और कॉलिन डी ग्रैंडहोम हैं।

ओवरऑल कीवी टीम काफी अनुभवी है। हमेशा से इस टीम को विश्‍व कप में छुपा रुस्‍तम कहा जाता रहा है। इस बार भी इस टीम के साथ कुछ ऐसा ही है।